मुजफ्फरनगर के सिखेड़ा में राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार, ट्रेस हुई शिकारियों की कार!

एक संदिग्ध शिकारी का फोटो भी आया सामने, ग्रामीणों में रोष व्याप्त, पुलिस तलाश में जुटी
 
Peacock Murder in sikheda

  • अमित सैनी, प्रधान संपादक

मुजफ्फरनगर। सिखेड़ा थाना इलाके के फहीमपुर गांव के जंगल में शिकारियों ने राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार कर लिया। इससे पहले कि मृत मोर को लेकर शिकारी फरार हो पाते, उससे पहले ही ग्रामीणों को इसकी भनक लग गई और ग्रामीणों ने शिकारियों को घेर लिया। हालांकि शिकारी भागने में कामयाब हो गए। ग्रामीणों ने भागते हुए शिकारियों को मोबाइल के कैमरे में कैद कर लिया। साथ ही उनकी वैगन-आर कार का नंबर भी नोट कर लिया। सूचना पर पहुंचे सिखेड़ा थाना प्रभारी आईपीएस ऑफिसर नीमीष पाटिल ने मौका-मुआयना किया और ग्रामीणों को आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया।
गोली मारकर किया मोर का शिकार!
दरअसल, ये घटना उस वक्त घटित हुई, जब सोमवार की शाम गांव के ही हिमांशु और अक्षय अपने साथियों के साथ गांव के बाहरी छोर पर स्थित स्कूल के प्रागंण में खेल रहे थे। उसी वक्त उन्होंने फायरिंग की आवाज सुनी। फायरिंग की दिशा में जाकर देखा तो एक मोर मृत पड़ा था, जबकि पीली टी-शर्ट में एक युवक भी वहां पर मौजूद था। हिमांशु के मुताबिक वो उन्हें देखते ही वहां से भागने लगा।

peacock murder in sikheda
मृत मोर और शिकार के बाद कार में बैठकर भागते शिकारी (Photo: Samachar Today)

ग्रामीणों ने दूर तलक किया पीछा
ग्रामीण हिमांशु के मुताबिक, आरोपी युवक उन्हें देखते ही एक ग्रे कलर की वैगन-आर कार की तरफ दौड़ा, जिसमें पहले से ही अन्य लोग भी सवार थे। उन्होंने आरोपी युवक और कार का बहुत दूर तक पीछा किया, लेकिन वो भाग निकले। आपको बता दें कि भागे हुए आरोपी और कार, दोनों की ग्रामीणों ने मोबाइल के जरिए वीडियो भी बनाई। साथ ही कार का नंबर भी नोट कर लिया। मौके पर पहुंचे आईपीएस अधिकारी नीमीष पाटिल को वीडियो और नंबर देकर ग्रामीणों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।
पोस्टमार्टम के बाद किया गया अंतिम संस्कार
सूचना पर पहुंची पुलिस ने मोर के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रात ही भेज दिया था। मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने विविधत तरीके से मोर का अंतिम संस्कार किया। ग्रामीण हिमांशु की तरफ से दी गई तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात शिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।


'राष्ट्रीय पक्षी मोर के शिकार की सूचना मिली थी। हम मौके पर पहुंचे और मोर के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। चश्मदीदों द्वारा आरोपियों की वीडियो/फोटो और उनकी कार का नंबर दिया गया है। कार नंबर को ट्रेस किया जा रहा है। इस मामले में पशु क्रूरता एवं वन्य जीव अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।' -नीमीष पाटिल, प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी एवं सिखेड़ा थाना प्रभारी