बदायूः मंदिर के कमरे में रखे बक्से में मिली पुजारी की लाश, इलाके में सनसनी

15 साल से मंदिर में सेवा करते थे बाबा हंसराज दास

 
dead body

 

रिपोर्टः इंतजार हुसैन

बदायूं। यूपी के बदायूं में मंदिर के कमरे में रखे बक्से में पुजारी का शव मिलने से सनसनी फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल की। आशंका किसी अनहोनी की भी जताई जा रही है। पुलिस का मानना है कि बक्से से सामान निकालते समय उसमें गिर जाने और बक्सा बंद हो जाने से दम घुट गया और उनकी मौत हो गई। 3 चिकित्सकों के पैनल और वीडियोग्राफी के बीच शव का पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमें मौत की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी।

15 साल से कर रहे थे मंदिर में पूजा-अर्चना

दरअसल वजीरगंज थाना इलाके के गांव खुर्रमपुर भमोरी स्थित हनुमान मंदिर में 15 वर्षों से बाबा हंसराज दास अपनी सेवाएं दे रहे थे। वे खुद यहां आए थे। तभी से वहीं मंदिर की पूजा अर्चना करते थे और मंदिर में बने कमरे में वे रहते और वहीं उनका सामान रखा था। गांव के लोगों के घर ही सुबह-शाम का भोजन करते थे। मंगलवार शाम आरती के बाद गांव के एक डाक्टर के यहां भोजन करके अपने कमरे में आ गए थे। इसके बाद उन्हें किसी ने नहीं देखा।

लोगों का कहना है कि बुधवार सुबह जब वे मंदिर पहुंचे तो वहां ना तो पूजा अर्चना हुई थी न साफ सफाई। इस पर पुजारी की तलाश की गई। जब मंदिर में बने कमरे में जाकर देखा गया तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। आवाज देने पर भी जब वे न खुला तो अनहोनी की आशंका पर दरवाजा तोड़ा गया। अंदर देखा तो वहां भी पुजारी नहीं थे। इस पर ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी।

जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक वजीरगंज धनंजय पांडेय मौके पर पहुंचे। पुलिस ने वहां रखे बक्से को खोला तो उसमें बाबा का शव था। शव बाहर निकाल कर रखा गया। शव देखने से प्रतीत हो रहा था कि वे खुद उस बक्से में गिरे और बक्सा बंद हो गया। बक्सा न खुलने की वजह से दम घुटने से उनकी मौत की आशंका जताई जा रही थी। दरवाजा अंदर से बंद होने से कोई और आशंका नहीं बन रही है। एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा भी गांव पहुंचे। उन्होंने बताया कि मामला हादसे जैसा ही लग रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है। इसलिए बिसरा सुरक्षित रख लिया गया है।