मियां-बीवी के झगड़े में 'कातिल' बनी यूपी पुलिस, डंड़ा मारकर शौहर की कर दी हत्या!

गुस्साएं परिजनों ने लाश को सड़क पर रखकर लगाया जाम, घंटों चला हंगामा और मिन्नतें करते रहे पुलिस अधिकारी
 
MORADABAD

  • रिपोर्टः सुधीर गोयल

मुरादाबाद। मियां-बीवी के विवाद की सूचना पर पहुंची पुलिस की पिटाई से एक शख्स की कस्टडी में मौत हो गई, जिसके बाद लाश को एक निजी अस्पताल में छोड़कर पुलिस वाले वहां से भाग खड़े हुए। गुस्साएं परिजनों ने लाश को बीच सड़क पर रखकर जाम लगा दिया और आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों के आश्वासन के बाद ही परिजनों ने जाम खोला, जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए आगे की कार्रवाई शुरू की।

MORADBAD
पुलिस कस्टडी में शख्स की मौत पर हंगामा करती भीड़


दरअसल... ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद का है। आरोप है कि भोजपुर थाना क्षेत्र के सहेल गांव निवासी भूपेंद्र पांडे का अपनी बीवी के साथ किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। पीड़ित पत्नी ने मामले की जानकारी अपने भाईयों को दी तो उन्होंने डायल 112 पर कॉल करके पुलिस बुला ली। बताया जाता है कि सूचना पर पीआरबी नंबर 0275 मौके पर पहुंची, जहां पीआरबी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने भूपेंद्र को जमकर पीटा। जिसकी वजह से वो घायल हो गया। जिसके बाद घायल को लेकर पुलिस वहां से थाने ले जाने के नाम पर निकल गई, लेकिन थोड़ी ही देर बाद परिजनों को मालूम हुआ कि भूपेंद्र की मौत हो चुकी है और लाश एक निजी अस्पताल में पड़ी हुई है।

पीलीभीतः हत्या कर गन्ने के खेत में ठिकाने लगाई लाश, पुलिस ने ये उठाया कदम

ये सुनते ही आक्रोशित परिजनों अस्पताल पहुंचे और वहां से लाश उठाकर कांट रोड पर रखते हुए जाम लगा दिया। परिजनों का सीधे तौर पर आरोप था कि पुलिस की पिटाई से ही भूपेंद्र की मौत हुई है और उसके बाद पुलिस वाले उसकी  लाश को नि जी अस्पताल में छोड़कर भाग निकले। पुलिस कस्टडी में मौत और जाम की सूचना पर पहुंचे एसपी ग्रामीण विद्यासागर ने पीड़ित परिवार वालों को दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया, जिसके बाद ही परिजन माने।

MORADABAD
पुलिस कस्टडी में शख्स की मौत पर हंगामा करती भीड़


पहले भी लगा है खाकी पर दाग!
मुरादाबाद पुलिस का ये कोई पहला मामला नहीं है, जब खाकी पर दाग ना लगा हो। हाल ही में मुरादाबाद पुलिस का एक और नया कारनामा सामने आया था, जिसमें पुलिस पर भिखारी बच्चों के साथ अश्लीलता करने वाले एक्सपोर्टर को बचाने का आरोप लगा था, जिसकी अभी जांच ही चल रही है। जबकि अब ये दूसरा मामला सामने आ गया है, जिसने पुलिस की अच्छी-खासी किरकिरी कराकर रख दी है।