खौफ के साये में पढ़ने को मजबूर बच्चे, शिकायत के बाद भी नहीं हुआ समाधान

पूरे जिले में है 224 जर्जर विद्यालय

 
jarjar schooL

 

  • रिपोर्टः राहुल पांडे

अंबेडकरनगर। एक और सुबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहतर और हाईटेक शिक्षा व्यवस्था के लाख दावे कर रहे हो लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही हैं। ऐसा ही एक मामला अंबेडकर नगर से सामने आया है, जहां स्कूल के बच्चे कई वर्षों से जर्जर स्कूल में पढ़ने को मजबूर है।

दरअसल..... अंबेडकर नगर जिले के इल्तिफातगंज प्राथमिक विद्यालय की कई बर्षों से जर्जर बिल्डिंग में बच्चे पढ़ने को मजबूर है। ऐसी परिस्थिति में यहां कोई बड़ा हादसा हो सकता है। इस संबंध में प्राथमिक विद्यालय के अध्यापकों द्वारा शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों से शिकायत की गई, लेकिन शिकायत सुनने के बाद भी आज तक इस समस्या का समाधान नहीं हो सका। बेसिक शिक्षा अधिकारी भोलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि पूरे जिले में 224 जर्जर विद्यालय है जिनको चिन्हित किया जा रहा है। इस सभी विद्यालयों की नीलामी कर जर्जर विद्यालयों को ध्वस्त करा कर नया निर्माण करवाने की बात कही गई है।