अयोध्याः राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक संपन्न, कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

बैठक में ट्रस्ट के पदाधिकारी और कार्यदायी संस्था के अधिकारी रहे मौजूद

 
अयोध्या

  • रिपोर्टः शंकर श्रीवास्तव

अयोध्या। सर्किट हाउस में चल रही राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक संपन्न हुई. बैठक की अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र ने की। बैठक में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कई पदाधिकारी और कार्यदायी संस्था लार्सन एंड टूब्रो और टीसीएस के अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में राम मंदिर निर्माण की अब तक की प्रगति पर चर्चा हुई। साथ ही ओपन एयर थिएटर समेत कई तरह की सुविधाओं को लेकर भी चर्चा की गई।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि 21 और 22 जुलाई को दो दिवसीय बैठक में कई अहम चर्चाएं हुईं। पहले सत्र में अयोध्या में उन स्थानों का निरीक्षण किया गया। जहां पर यात्रियों के लिए पार्किंग की व्यवस्था उनके ठहरने की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा राम जन्मभूमि मुख्य मार्ग में जिन दुकानदारों की दुकानों को तोड़ा गया है उन्हें पुनर्स्थापित करने की कहा व्यवस्था की गई है, इस पर भी बातचीत की गई. कोशिश है कि वाहनों की पार्किंग वहा हो जहां पर व्यावसायिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाए.ऐसे कुछ स्थानों का स्थलीय निरीक्षण किया गया है. वहां पर दुकानों का निर्माण किया जा रहा है और पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है।

चंपत राय ने कहा कि ओपन एयर थिएटर और रामलीला मंचन के लिए नए बस अड्डे के पीछे का स्थान चयनित किया गया है। इसके अलावा राम कथा पार्क और राम की पैड़ी क्षेत्र में स्थित भजन स्थल भी तैयार होगा। इन स्थानों का प्रयोग आवश्यकता के अनुसार किया जाएगा। जिससे अयोध्या में जब श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़े तो भीड़ को नियंत्रित किया जा सके और सुगमता पूर्वक श्रद्धालु भगवान राम लला का दर्शन पूजन कर सकें। उन्होने बताया कि भगवान राम के मंदिर पर एक फिल्म का निर्माण किया जाना है। इसके लिए प्रसार भारती को निर्देशित किया गया है. प्रसार भारती ने एक एजेंसी का चयन किया है जो भगवान राम के मंदिर पर एक फिल्म का निर्माण करेगी। 

तस्वीरों का और वीडियो का संकलन शुरू किया जा चुका है बाकी का कार्य मंदिर निर्माण पूरा होने पर संपन्न होगा. भगवान राम के मंदिर की विशेषता के रूप में ट्रस्ट एक बड़ी योजना पर काम कर रहा है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि हमारा प्रयास है कि रामनवमी के दिन भगवान राम जन्म के समय ठीक 12:00 बजे भगवान सूर्य की किरणें रामलला के मस्तक पर पड़े, इसके लिए कार्य योजना पर काम चल रहा है. अंतरिक्ष विज्ञानी इस विषय पर काम कर रहे हैं।