गांव पावटी पहुंचे भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ रावण

दलितों की बस्ती का किया दौरा

 
bastee ka daura

 

  • रिपोर्टः गोपी सैनी

मुजफ्फरनगर। जिले के गांव पावटी में पूर्व प्रधान ने सोमवार की रात दलितों के खिलाफ मुनादी कराकर उनके खेत में घुसने पर 5 हजार जुर्माना और 50 जूतों की सजा का ऐलान कराया था। इसके बाद चन्द्रशेखर ने ट्वीट कर जल्द गांव जाने की बात भी कही थी, वे शाम को ही गांव पहुंचे और दलित बस्ती का दौरा किया।

bastee ka daura

याद रहे कि सोमवार की रात को चरथावल थाना इलाके के गांव पावटी खुर्द में मुनादी का एक वीडियो सोशल मीडिया परवायरल हुआ था। इसमें मुनादी करने वाले ने गांव के ही दलित वर्ग के खिलाफ राजवीर प्रधान की तरफ से उसके खेतों में घुसने पर जुर्माना और सजा का ऐलान किया गया। इस मुनादी की वीडियो से हड़कम्प मच गया। एसएसपी अभिषेक यादव ने इस पर तत्काल ही संज्ञान लेकर कार्रवाई के आदेश दिए। चरथावल थाना प्रभारी ज्ञानेश्वर बौद्ध ने सोमवार की रात ही गांव में दबिश देकर मुनादी कराने वाले विक्की त्यागी के पिता राजवीर त्यागी उर्फ राजू प्रधान निवासी गांव पावटी और मुनादी करने वाले कंवरपाल उर्फ काला निवासी पावटी को गिरफ्तार कर लिया था। ये मामला इतना हाईलाइट हुआ कि एसएसपी को भी ट्विटर हैंडल पर बयान जारी करना पड़ा। इसमें उन्होंने कहा था कि जनपद के थाना चरथावल गांव पावटी खुर्द में राजबीर नाम का एक युवक की ओर से गैर-कानूनी और आपत्तिजनक जातिगत टिप्पणी के साथ ही मारपीट की बात की गई है। उसमें उक्त युवक और उसके साथी के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। इस मामले में राजवीर प्रधान और कुंवरपाल के खिलाफ कुटेसरा चौकी प्रभारी एसआई ओमेन्द्र सिह की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया। इस मामले में पुलिस ने दोनों आरेापियों को अदालत में पेश किया, जहां से उनको 14 दिन की न्यायिक हिरासत में 23 मई तक जेल भेज दिया गया। ये मामला आज भी चर्चाओं में बना हुआ है।

bastee ka daura

चन्द्रशेखर आजाद ने पावटी गांव में मुनादी की वीडियो के साथ ट्वीट किया है। उन्होंने इस ट्वीट में दलित विरोधी टिप्पणी पर कड़ी आपत्ति जताई है। चन्द्रशेखर ने अपने ट्वीट में कहा कि यूपी के जिला मुजफ्फरनगर के गांव पावटी खुर्द में खुलेआम मुनादी हो रही है कि कोई भी चमारउसकी डोल, समाधि, ट्यूबवेल पर दिख गया तो 5 हजार रुपए जुर्माना और 50 जूते होंगे! भीम आर्मी ने इस मामले में किए गये अपने ट्वीट में तंज कसते हुए कहा कि हिंदू बनने का जिनको शौक चढ़ा था, उन्हें अब समझ आ गया होगा। चेतावनी देते हुए कहा कि वैसे इनकी गलतफहमी दूर करने मैं जल्द पावटी जाऊंगा। अपने ट्वीट में उन्होंने बीजेपी सरकारों पर भी तंज कसा है, उन्होंने कहा ये है मोदी और योगी के रामराज्य की एक झलक। लेकिन याद रखिये ये गुलाम भारत नहीं है, ये आजाद भारत है जो भारतीय संविधान से चलता है। भीम आर्मी के रहते ये गुंडागर्दी अब नहीं चलेगी।इसके साथ आजाद समाज पार्टी के ट्वीटर हैंडल पर भी मुनादी की वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया गया, ‘रामराज्य की एक झलक, हिन्दू राष्ट्र का ट्रेलर!! ये ढफली वाला जो घोषणा कर रहा है,शायद इस देश के भयावह भविष्य का दर्पण है जिसको आरएसएस ने बीजेपी के माध्यम से संकल्पित किया है। योगी आप वोट की खातिर दलित के घर खाना तो खा सकते है पर क्या खुल के ऐसी मानसिकता के खिलाफ स्टैंड ले सकते हैं? इस मामले में सोमवार की  शाम ही चन्द्रशेखर आजाद गांव पावटी पहुंचे। उनके साथ भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी के सैंकड़ों कार्यकर्ता भी रहे। वे दलित बस्ती में पहुंचे तो लोगों ने भारी उत्साह से उनका स्वागत किया।