27 साल बाद फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी करने वाला शिक्षक निलंबित

27 साल में लिए गए वेतन की होगी रिकवरी

 
suspended

मेरठ। यूपी के जिले मेरठ में फैज ए आम इंटर कॉलेज में 27 साल तक वेतन लेने के बाद पता चला कि शिक्षक की बीएड की डिग्री फर्जी है। इसके बाद कार्रवाई करते हुए शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है।

1995 से कार्यरत थे शिक्षक तैयब अली

फैज ए आम इंटर कॉलेज के सहायक अध्यापक तैयब अली को बर्खास्त कर दिया गया है। प्रबंधक वली अहमद ने इस संबंध में आवश्‍यक कार्रवाई की है। कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉक्टर जुल्फिकार ने बताया कि जांच में तैयब अली की बीएड की डिग्री फर्जी पाई गई है। एडीएम सिटी के स्तर से जांच रिपोर्ट में भी इसकी पुष्टि हुई थी। जिसके बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है। तैयब अली 1995 से कार्यरत थे।

बताया जाता है कि तैयब अली ने नौकरी के लिए रोहतक के महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री का इस्तेमाल किया था। जांच और सत्यापन में इसके फर्जी होने का राजफाश हुआ। एक अनुमान के अनुसार उन्होंने 27 साल में करीब एक करोड़ रुपये वेतन लिया है। बताया गया कि इसकी रिकवरी विभाग के माध्‍यम से की जाएगी।