फाइनेंसर की हत्या के मामले में जेल में बंद आरोपी की बुखार से मौत

वायरल बुखार होने पर आरोपी को जिला अस्पताल में कराया गया था एडमिट

 
मौत

मुजफ्फरनगर। भोपा थाना इलाके के मोरना में फाइनेंसर की हत्या के मामले में जेल में बंद शैंकी उर्फ अमृत राठी की मेरठ अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। आरोपी शैंकी को वायरल होने पर मेरठ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है।

दरअसल थाना भोपा के गांव छछरौली निवासी फाइनेंसर प्रवीण की 6 जुलाई की शाम को हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड का खुलासा कर भोपा पुलिस ने छछरौली निवासी शैंकी उर्फ अमृत राठी, दीपक उर्फ हनुमान, शुभम पंडित, अंकित उर्फ सनी, राजीव फौजी, गौरव नेपाली और स्वीटी को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। हत्या के आरोप में शैंकी को पुलिस ने 10 जुलाई को जेल भेजा था। तभी से वो जेल में बंद था। जेलर कमलेश सिंह ने बताया कि एक सितंबर को वायरल बुखार होने पर शैंकी को जिला अस्पताल ले जाया गया था। वहां से उसे मेरठ मेडिकल के लिए रेफर कर दिया था।

आरोपी शैंकी की हालत में सुधार बताने पर 13 सितंबर को उसे जिला जेल लाया गया, लेकिन फिर से हालत बिगडने पर उसे 14 सितंबर को जिला अस्पताल ले जाया गया था। एक बार फिर उसे मेरठ मेडिकल के लिए रेफर कर दिया गया। बुधवार रात करीब 9 बजे उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। उसके परिजनों को सूचना मिलने पर वे गुरुवार को मेरठ मेडिकल पहुंचे। जेलर ने बताया कि मेरठ में ही शव को पोस्टमार्टम कराया गया है। परिजन शव लेकर चले गए हैं।