फीस में 4 गुना वृद्धि के मामले ने पकड़ी तूल

छात्रों ने आर पार की लड़ाई के लिए कस ली कमर

 
PROTEST

 

  • रिपोर्टः त्रिभुवन नाथ शर्मा

प्रयागराज। पूर्व का ऑक्सफोर्ड कहे जाने वाला इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में 4 गुना वृद्धि का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। यहां आर या पार की लड़ाई लड़ने के लिए सैकड़ों छात्र कमर कस चुके हैं।

दरअसल... छात्रसंघ भवन के मुख्य गेट पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक बार फिर से ताला लगा दिया था, जिसे छात्रों ने पुनः दिया है। ताला तोड़ने की सूचना जैसे ही विश्वविद्यालय प्रशासन को मिली तो वे सुरक्षाकर्मियों को लेकर चीफ प्रॉक्टर छात्रसंघ भवन गेट पर पहुंचे और गेट को बंद करवाने लगे। जिससे नाराज छात्र गेट पर ही लेट गए। इस दौरान छात्र और सुरक्षाकर्मी के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। इस दौरान चीफ प्रॉक्टर हर्ष कुमार ने गेट पर लेटके छात्र आयुष प्रियदर्शी के प्राइवेट पार्ट पर लात मारी जिससे वो गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन फानन में घायल छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जिसके बाद छात्र उग्र हो गए और चीफ प्रॉक्टर के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे।

दरअसल... लगभग 1 सप्ताह पूर्व छात्रसंघ भवन के मुख्य द्वार पर ताला बंद किया गया था जिसे छात्रों ने तोड़ दिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से 15 नामजद और 100 अज्ञात छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। फिलहाल मौके पर भारी पुलिस बल मौजूद है और स्थिति सामान्य है, लेकिन सवाल ये खड़ा होता है कि एक और जहां छात्र फीस वृद्धि वापस करने पर आर पार की लड़ाई के लिए तैयार हो गए हैं, वही विश्वविद्यालय प्रशासन भी फीस वृद्धि वापस ना करने की बात पर अड़ा है। इस दौरान ये मामला इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय परिसर का होने की वजह से पुलिस प्रशासन भी कुछ नहीं कर पा रहा है।