जिला महिला अस्पताल के रजिस्ट्रेशन टेबल पर सोती हुई एक महिला के फोटो वायरल

फोटो के साथ लिखा है ये है महिला अस्पताल की एसएमएस डॉक्टर सुनीता पांडे का सुशासन

 
mahila aspataal kee laaparavaahee

 

  • रिपोर्टः सुधीर गोयल

मुरादाबाद। यूपी के मुरादाबाद में जिला महिला अस्पताल के राजिष्ट्रेष्ण टेबल पर सोती हुई एक महिला के कुछ  फोटो वायरल हो रहे है। इस वायरल फोटो की सत्यता जानने के लिए जब मुरादाबाद जिला महिला अस्पताल की सीएमएमएस से बात की तो वो पत्रकारों पर ही उल्टे बरस पड़ी की एक महिला की ऐसी फोटो क्यों खींची।

एबीसीएमएस को कौन बताए की ये वायरल फोटो उनके सुशासन की पोल खोल रहा है खैर काफी हुज्जत के बाद भी सीएमएस डॉक्टर सुनीता पांडे ने बस इतना बताया कि  ये टेबल कोवीद हेल्प डेस्क है आज कल खाली रहती है।

अस्पताल के कुछ स्टाफ ने बताया कि ये एक गांव की आशा है और बहुत दबंग है। उन्होंने बताया कि ये जो मरीजों अस्पताल से रेफर होते है या उनकी डिलीवरी में देर हो तो उन्हें निजी अस्पताल में ले जाती है।

स्टाफ ने बताया कि इस आशा की एक बेटी डॉक्टर है और उसने अपना निजी अस्पताल खोल रखा है, ये सरकारी अस्पताल के कर्मचारियों की मिली भगत से अपनी बेटी के निजी अस्पताल में गर्भवती महिलाओं को ले जाती है,  और बदले में सरकारी अस्पताल के कर्मचारियों को एक मोटी रकम देती है इसी लिए ये अस्पताल में रात  रात भर रुकती है। उन्होंने बताया कि अस्पताल के कर्मचारी से लेकर अधिकारी भी इसके मुरीद रहते है।

 

यूनियन की अध्यक्षा संजू ठाकुर ने भी इसका विरोध करते हुए कहा की ऐसी ही आशा बहुओं की वजह से उन आशाओं को हीन भावना से देखा जाता है वे इस तरह के क्कीर्त्यो के खिलाफ है। उन्होंने उच्च अधिकारियों से ऐसी आशाओं को पद मुक्त करने की गुहार लगाई है।