मुजफ्फरनगर में हुई कला प्रदर्शनी में चित्रों को देखकर भावुक हुए लोग

22 जून बिक्री के लिए उपलब्ध होंगी सभी कृतियां

 
मुजफ्फरनगर

  • रिपोर्टः गोपी सैनी

मुजफ्फरनगर। महामना मालवीय इंटर कॉलेज में कलांगन एवं ललित कला अकादमी लखनऊ के संयुक्त प्रयासों से चल रही कला प्रदर्शनी का उद्घाटन ललित कला अध्यक्ष सीता राम कश्यप और राम शब्द सिंह पूर्व कला विभाग अध्यक्ष जेवी जैन पीजी कॉलेज सहारनपुर के साथ जिला विद्यालय निरीक्षक गजेंद्र कुमार ने दीप प्रज्वलित करते हुए किया। सीता राम कश्यप ने कहा कि कला किसी की बपौती नहीं, आदिवासियों से लेकर संभ्रांत जनों के हृदय में कला बसी है। मौका पाते ही वह उजागर होने लगती है।

सीताराम ने कहा कि चित्र प्रदर्शनी में सभी वर्गों के कलाकारों का काम देखने को मिला। भारतीयों से पोषित कला आज भी दुनिया में अपना विशेष स्थान रखती है। बौद्ध, जैन, हिंदू, मुस्लिम, सिख पूर्वात्य एवं पाश्चात्य कला के रूप रंग प्रदर्शनी में देखने को मिले। कलांगन सचमुच बधाई का पात्र है। वहीं राम सिंह ने कहा कि प्रदर्शनी में प्रचलित लोक कलाओं पर आधारित चित्रों को देखकर वे भावुक हुए बिना नहीं रह सके। भारतीय संस्कृति की आत्मा ही कलाओं में बोलती है।

जिला विद्यालय निरीक्षक गजेंद्र कुमार ने कला प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए बाल एवं युवा कलाकारों के कार्य की भूरी भूरी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि क्या बालक क्या युवा संघ में कला की ललक मौजूद है। बस केवल उसे उतारने की जरूरत है। महावीर सिंह ने कहा कि प्रत्येक विद्यालय में कलांगन की इकाई स्थापित होनी चाहिए। ऋषि पाल गौतम एमएलसी, महेंद्र आचार्य डॉक्टर कंचन प्रभा, डॉक्टर निशा गुप्ता प्राचार्य, विनीत चौहान, विनोद कुमार, रीता मोहन ने कला के विकास की आवश्यकता बताई। कार्यक्रम के संयोजक राजमल सैनी ने बताया की प्रदर्शनी 22 जून 2022 को सुबह 9:00 बजे से 3:00 बजे तक खुली रहेगी। सभी कृतियां बिक्री के लिए उपलब्ध हैं।