उत्तराखंड में पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के रोगियों की संख्या में आई वृद्धि

बढ़ते कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

 
COVID-18

 

  • रिपोर्टः अबुबकर मकरानी

उत्तराखंड। देहरादून राज्य में बढ़ते कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए कार्यालय मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तराखंड शासन ने नई दिशा निर्देश जारी करते हुए इसके सभी जिला अधिकारियों से अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल... राज्य में कोविड-19 संक्रमण वर्तमान में भी प्रसारित हो रहा है और पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 रोगियों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है। अतः कोविड-19 संक्रमण को पुनः महामारी का रूप लेने से रोकने के लिए समस्त जनपदों में समयान्तर्गत आवश्यक कार्यवाहियां की जानी आवश्यक है। कोविड 19 संक्रमण को प्रसारित होने से रोकने एवं समुचित प्रबंधन के लिए पांच सूत्री रणनीति जांच, निगरानी, उपचार, टीकाकरण और कोविड एप्रोप्रियेट व्यवहार का लगातार अनुपालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए कोविड-19 रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए निम्नलिखित दिशा-निर्देशों का जनपद स्तर पर अनुपालन करना सुनिश्चित करें।

 1. आम जनमानस में कोविड-19 से बचाव के लिए कोविड एप्रोप्रियेट व्यवहार जैसे कि सामाजिक दूरी का अनुपालन, मास्क पहनना एवं हाथों को Sanitize करने आदि के प्रति जागरूकता के लिए विभिन्न माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।

2. भारत सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार कोविड-19 टीकाकरण कवरेज को बढ़ाया जाए। पूर्ण कोविड-19 टीकाकरण के लिए आम जनता को नियमित रूप से प्रेरित करने के लिए जागरूकता की जाए।

3. चिकित्सा इकाइयों में कोविड-19 संक्रमित रोगियों के उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन सिलेंडर, आक्सीजन कसंनट्रेटर, ऑक्सीजन बेड, वेंटिलेटर, आई०सी०यू० बेड एवं आवश्यक औषधियों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। सम्बन्धित चिकित्सा इकाईयों में स्थापित ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की क्रियाशीलता सुनिश्चित की जाए।

 4. दैनिक रूप से राजकीय एवं निजी चिकित्सा इकाइयों में कोविड- 19 संक्रमित भर्ती रोगियों की सूचना प्राप्त की जाए एवं रोगियों के स्वास्थ्य दशा की निरंतर निगरानी करते हुए समीक्षा की जाए। ये सुनिश्चित किया जाए कि कोविड-19 संक्रमित रोगियों को समय पूर्व उपचार प्राप्त हो। 5. हल्के लक्षण वाले कोविड-19 संक्रमित रोगियों को होम आइसोलेशन में ही उपचार प्रदान किया जाए।

6. कोविड- 19 जांच के लिए आई सी एम आर भारत सरकार के दिशा निर्देशों का पालन किया जाए। जनपद स्तर पर कोविड-19 सैंपल जांच की दर को बढ़ाया जाए एवं जांच के लिए गए कुल सैंपल में से अधिकतम सैंपल RT PCR जांच के लिए प्रेरित किए जाएं।

7.चिकित्सालयों में आने वाले सभी इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी (आईयू) गंभीर तीव्र श्वसन बीमारी (एसएआरआई) के रोगियों की कोविड-19 जांच की जाए एवं उक्त सभी रोगियों का विवरण अनिवार्य रूप से आईडीएसपी के अंतर्गत एकीकृत स्वास्थ्य सूचना मंच (आईएचआईपी) पोर्टल में प्रविष्ट किया जाए।

8. समुदाय स्तर पर यदि किसी जगह कोविड-19 अथवा फीवर केस की क्लस्टरिंग मिलती है तो वहां पर त्वरित जांच सुविधा की उपलब्धता एवं निरोधात्मक कार्रवाई की जाए।

9. कोविड-19 जांच में RT PCR द्वारा पॉजिटिव पाए गए सभी रोगियों के सैंपल संपूर्ण जीनोम अनुक्रम (WGS) जांच के लिए राजकीय दून मेडिकल कॉलेज को प्रेषित किए जाएं एवं WGs जांच के लिए प्रेषित सभी सैंपलों की सूचना अनिवार्य रूप से आईडीएसपी के अंतर्गत एकीकृत स्वास्थ्य सूचना मंच (आईएचआईपी)  पोर्टल में प्रविष्ट किया जाए।