Assembly Election: चुनावों की तारीखो की घोषणा, यूपी में 7 चरणों में होगे मतदान, 10 मार्च को होगी मतगणना

चुनाव आयोग ने सभी 5 राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीखों का किया ऐलान, हुई आचार संहिता लागू
 
up election date_samachar today
  • रिपोर्टः अमित सैनी, प्रधान संपादक

दिल्लीः आखिरकार तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है। साथ ही ये भी स्पष्ट संदेश दे दिया है कि चुनाव अपने तय समय में ही होंगे। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव होगा। मतदान 10 फरवरी से होगा और 10 मार्च को मतगणना होगा। पंजाब, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर में भी सियासी तापमान बढ़ चुका है। इलेक्शन डेट्स की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

यूपी में 10 फरवरी से वोटिंग और 10 मार्च को होगी मतगणना
उत्तर प्रदेश में कुल 7 चरणों में मतदान होना है। कृप्या निम्न कॉलम को तारीखवार पढ़े और पूरी जानकारी प्राप्त करे।

  1. पहले चरण का मतदानः 10 फरवरी, 2022
  2. दूसरे चरण का मतदानः 14 फरवरी, 2022
  3. तीसरे चरण का मतदानः 20 फरवरी, 2022
  4. चौथे चरण का मतदानः 23 फरवरी, 2022
  5. पांचवें चरण का मतदानः 27 फरवरी, 2022
  6. छठे चरण का मतदानः 3 मार्च, 2022
  7. सातवें चरण का मतदानः 7 मार्च, 2022
  8. मतगणना होगीः 10 मार्च 2022

up election date_samachar today

उत्तराखंड विधान सभा चुनावः एक चरण
उत्तराखंड में 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे और 10 मार्च को नतीजे आएंगे

मणिपुर विधानसभा चुनावः दो चरणों में
मणिपुर चुनाव में 27 फरवरी और 3 मार्च को वोटिंग, 10 मार्च को मतगणना

पंजाब विधानसभा चुनाव : एक चरण
पंजाब में 14 फरवरी को वोटिंग, 10 मार्च को काउंटिंग होगी

गोवा विधानसभा चुनाव : एक चरण
गोवा में 14 फरवरी को वोटिंग, 10 मार्च को काउंटिंग होगी

विजय जुलूस पर आयोग ने लगाई रोक
चुनाव आयोग ने ये भी स्पष्ट कर दिया है कि चुनाव प्रचार डिजिटल, वर्चुअल, मोबाइल के जरिए से होगा। फिजिकल प्रचार के पारंपरिक साधनों का इस्तेमाल कम से कम किया जाएगा। इसके अलावा राजनीतिक पार्टियां रात आठ बजे से सुबह आठ बजे तक कोई प्रचार, जन संपर्क नहीं कर सकेंगी। इतना ही नहीं आयोग ने जीत के बाद विजय जुलूस निकाले जाने पर भी  पूर्ण रूप से प्रतिबंधित कर दिया है। चुनाव आयोग ने कहा कि विजय उम्मीदवार दो लोगों के साथ प्रमाण पत्र लेने जाएंगे। पार्टियों को तय जगहों पर ही सभा करने की अनुमति होगी। सभी पार्टियों और उम्मीदवारों को अंडरटेकिंग देनी होगी कि वे कोविड गाइड लाइन का पालन सख्ती से करेंगे।