पंजाबः किसानों ने मोदी के काफिले को 15 मिनट तक रोका, रद्द करनी पड़ी रैली

गृह मंत्रालय ने मानी बड़ी चूक, पंजाब सरकार से मांगा जवाब
 
modi

बड़ी ख़बर पंजाब से आई है, जहां आंदोलनकारी किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को बीच रास्ते में करीब 15 से 20 मिनट तक रोके रखा। इस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक माना जा रहा है। जिसकी वजह से फिरोजपुर में आयोजित होने वाली रैली भी रद्द हो गई है। इस मामले को लेकर गृह मंत्रालय की तरफ से बयान जारी करते हुए पंजाब सरकार से जवाब भी मांगा गया है। इतना ही नहीं बीजेपी ने इस पर पंजाब के सीएम चन्नी के इस्तीफे की भी मांग की है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को किसानों द्वारा इस तरह से रोके जाने को लेकर गृह मंत्रालय की तरफ से जो बयान जारी करते हुए कहा गया है कि पीएम मोदी बुधवार सुबह सुबह बठिंडा पहुंचे थे। फिर वहां से उनको हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था, लेकिन बारिश और कम विजिबिल्टी होने की वजह से 20 मिनट तक इंतजार करना पड़ा, लेकिन जब आसमान साफ होता दिखाई नहीं दिया तो सड़क मार्ग से जाने का फैसला लिया गया। करीब 2 घंटे का मोदी को सफर तय करना था, जिसके लिए पंजाब पुलिस के डीजीपी से आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की रजामंदी भी पहले ही ले ली गई थी। बावजूद इसके पीएम मोदी के काफिले को रोका गया।

modi


फ्लाईओवर पर रोका गया मोदी का काफिला
आपको बता दें कि पीएम मोदी का काफिला जब राष्ट्रीय शहीद स्मारक से 30 किलोमीटर दूर था तो उसी वक्त बीच रास्ते में पड़ने वाले एक फ्लाईओवर पर आंदोलनकारी किसानों ने रोड ब्लॉक कर दिया। आपको जानकर हैरत होगी कि पीएम मोदी का काफिला उस फ्लाईओवर पर 15 से 20 मिनट तक फंसा रहा। जिसे गृह मंत्रालय ने पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक माना है।

पंजाब सरकार नहीं की थी अतिरिक्त फोर्स तैनात!
गृह मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि पीएम की यात्रा के प्लान के बारे में पंजाब सरकार को पहले से अवगत करा दिया गया था। इसको ध्यान में रखकर  ही पंजाब सरकार को सही तैयारी, व्यवस्था और सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता करने थे। साथ ही पंजाब पुलिस और सरकार को इमरजेसी के दृष्टिगत भी तैयार रहना था। गृह मंत्रालय का कहना है कि आकस्मिकता प्लान को ध्यान में रखकर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग पर भी अतिरिक्त पुलिस फोर्स लगानी चाहिए थी जो कि नहीं लगाई गई। इस दौरान पीएम की सुरक्षा में तैनात सुरक्षा गार्ड गाड़ी के चारों तरफ सुरक्षा घेरा बनाकर खड़े रहे।

modi

बठिंडा के लिए वापस हुआ मोदी का काफिला
गृह मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए बयान में ये भी कहा गया है कि सुरक्षा में हुई इस चूक के बाद काफिले को वापस बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ मोड़ लिया गया। इस मसले का संज्ञान लिया गया है और इसे सुरक्षा में गंभीर चूक माना है, जिसकी विस्तृत रिपोर्ट राज्य सरकार को देनी होगी। राज्य सरकार को ये भी स्पष्ट करना होगा कि चूक किसकी वजह से हुई। साथ ही जिम्मेदार पर सख्त कार्रवाई की भी मांग की गई है।

modi

पंजाब को नहीं देने दी गई सौगात :अश्विनी
आपको ये भी बता दें कि प्रदर्शनकारी किसान पीएम के काफिले से थोड़ी ही दूर थे। इस मामले को लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा का बयान भी सामने आया है, जिसमें उन्होंने कहा कि है कि ’प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब आकर यहां की जनता को पैकेज यानि परियोजनाओं का तोहफा देना चाहते थे, लेकिन उनको ऐसा नहीं करने दिया गया। उनको कार्यक्रम स्थल तक ही नहीं पहुंचने दिया गया। उन्होंने पंजाब सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पीएम मोदी को सुरक्षा नहीं दी गई। सीएम चन्नी को इस्तीफा देना चाहिए।