दिल्लीः ओमिक्रोन के मामलों को लेकर बोले एलएनजेपी के चिकित्सा निदेशक, कहा ये बात

ओमिक्रोन के बीच नागरिक राहत की सांस ले सकते है

 
DOCTOR

राजधानी दिल्ली में एलएनजेपी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि ओमिक्रोन के कारण राष्ट्रव्यापी अलार्म के बीच, नागरिक राहत की सांस ले सकते हैं क्योंकि अधिकांश ओमिक्रोन मामले स्थिर हैं. और बिना किसी बड़ी जटिलता के उन्हें छुट्टी मिल रही है। दिसंबर में एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती 34 ओमिक्रोन रोगियों में से 18 को अब तक छुट्टी दे दी गई है। यहां एयरपोर्ट से रोजाना 15-18 संदिग्ध मरीज आते हैं। प्रत्येक रोगी को पूरी तरह से 2 टीका लगाया जाता है

ये भी पढ़ेः काउंसलिंग की जल्द मांग को लेकर हड़ताल पर सफदरजंग हॉस्पिटल के रेजिडेंट डॉक्टर्स

लोकनायक हॉस्पिटल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार के मुताबिक दिल्ली और मुंबई में सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय यात्री आते हैं, यही कारण है कि इन दोनों शहरों में संक्रमितों की संख्या सबसे अधिक है. सुरेश कुमार ने बताया कि उन मरीजों में ओमिक्रोन के संक्रमण की पुष्टि के बाद गले में खराश और जिस्म में दर्द के हल्के लक्षण थे. इन मरीजों में से किसी को भी ऑक्सीजन या वेंटीलेटर की जरुरत नहीं पड़ी

ये भी पढ़ेः मुजफ्फरपुर के 'आई हॉस्पिटल' लापरवाही ने छीन ली 15 लोगों की रोशनी...पढ़िए पूरी ख़बर

सुरेश कुमार ने आगे कहा कि उनमें हल्के लक्षण होने की वजह संभव है, उनके द्वार लिए गए वैक्सीन डोज़ हैं. यदि इसका कम्युनिटी विस्तार हुआ तो उन लोगों में गंभीर लक्षण देखे जा सकते हैं, जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली है