प्रधानमंत्री ने किया ‘जेवर एयरपोर्ट’ का शिलान्यास...जानिए क्या है खासियत

मोदी ने कहा, पहले की सरकारों ने दिखाए झूठे सपने

 
फाइल फोटो

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को गौतम बुद्ध नगर स्थित जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का आज यानि 25 नवंबर को शिलान्यास किया। इस मौके पर जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जेवर अब अंतरराष्ट्रीय पटल पर आ गया है और इसका लाभ यूपी की जनता के साथ दिल्ली एनसीआर को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी का भारत आज एक से बढ़कर एक आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है। बेहतर सड़कें, रेलवे और एयरपोर्ट सिर्फ इंफ्रा प्रोजेक्ट नहीं होते, बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं। इंफ्रा प्रोजेक्ट की ताकत और बढ़ जाती है, जब उनके साथ सीमलेस और अंतिम छोर तक कनेक्टिविटी हो। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट कनेक्टिविटी के हिसाब से एक मॉडल बनेगा।

ये भी पढ़ेः मोदी सरकार का बड़ा फैसला, आरबीआई गवर्नर का कार्यकाल 3 साल बढ़ाया

2022 विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश को आज सबसे बड़ी सौगात मिली है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट की नींव जेवर में रखी है। नोएडा इंटरनेश्नल एयरपोर्ट की नींव जेवर में रखने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बड़ी रैली भी कर रहे हैं। नोएडा इंटरनेश्नल एयरपोर्ट के साथ ही यूपी देश का एकमात्र ऐसा राज्य बन जाएगा। जहां पांच इंटरनेश्नल एयरपोर्ट हैं। एयरपोर्ट के भूमि पूजन के लिए बड़े पैमाने पर तैयारी चल रही थी। 34 हज़ार करोड़ की लागत से बनने वाला ये एयरपोर्ट सितंबर 2024 तक शुरू हो जाएगा। 6 हज़ार 200 हेक्टेयर इलाके में बन रहे इस एयरपोर्ट में 5 रन वे और 2 टर्मिनल होंगे।

ये भी पढ़ेः मोदी की केदारनाथ यात्रा पर कांग्रेस का हमला, कहा 'चुनाव आते ही आती है मंदिर और देवताओं की याद

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में जितनी तेजी से एविएशन सेक्टर में वृद्धि हो रही है. भारतीय कंपनियां सैकड़ों विमानों को खरीद रही हैं, उनके लिए भी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बड़ी भूमिका होगी। ये एयरपोर्ट विमानों के रखरखाव और मरम्मत का सबसे बड़ा सेंटर होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश-विदेश के विमानों को यहां सर्विस मिलेगी और सैकड़ों युवाओं को रोजगार मिलेगा। पीएम ने कहा कि आज भी हम अपने 85 प्रतिशत विमानों को मरम्मत के लिए विदेश भेजते हैं।