पीलीभीत में न्याय नहीं मिलने पर पीड़ित परिवार ने घर पर लगाया पलायन का बोर्ड

पुलिस पर लगाया कार्रवाई नहीं करने का आरोप

 
पीलीभीत

  • रिपोर्टः महेश कौशल

पीलीभीत। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में एक परिवार ने न्याय नहीं मिलने पर मजबूरन पलायन करने की तैयारी कर ली हैआरोप है विशेष समुदाय के लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के बाद अक्सर जान से मारने की धमकी मिल रही है। जिसके बारे बीसलपुर कोतवाल को कई बार बताया गया। लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जिसके बाद परिवार ने घर की दीवार पर पलायन करने का बोर्ड चस्पा कर 10 अगस्त तक पलायन करने की बात कही है। उधर हिंदू परिवार ने पलायन का जिम्मेदार बीसलपुर कोतवाल नरेश त्यागी को ठहराया है।

दरअसल मामला बीसलपुर कोतवाली इलाके के गांव रसियाखानपुर का हैजंहा आरोप है कि राम दीन रोजाना की तरह गाय और बछड़े को चराने के लिए 10 अप्रैल को ले गया था। राम दीन का आरोप है कि गांव के ही आबिद, रईस, मुन्ने ने बछड़े को चुरा लिया और धारदार हथियार से काट कर उसे मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद रामदीन ने रईस समेत चार लोगों के खिलाफ के तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया कराया था लेकिन मुकदमे के बाबजूद भी 3 महीने बाद भी आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई

वही पीड़ित रामदीन की पत्नी कृष्णा देवी ने बताया कि गांव के ही चार लोगों ने चोरी कर बछड़े को मौत के घाट उतार दिया था। पुलिस ने लगातार शिकायत के 55 दिन बाद मुकदमा लिखा। जिसके बाद लगातार आरोपी जान से मारने की धमकी और प्रताड़ित कर रहे है। कई बार पुलिस से शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब मजबूरन अपनी और अपने बच्चों की जान बचाने की खातिर गांव से पलायन कर रहे है।