गोगवान के ग्रामीण नारकीय जीवन जीने को मजबूर

तालाब हुआ ओवरफ्लो गांव की गलियां गंदे पानी से लबालब

 
problem

 

  • रिपोर्टः पंकज उपाध्याय

शामली। थाना भवन में गलियों में नालियों का गंदा पानी भरने से ग्रामीण नारकीय जीवन जीने को मजबूर है। ग्रामीणों का कहना है कि कई बार शिकायत के बावजूद भी ओवरफ्लो हुए तालाब की खुदाई नहीं हुई है।

problem

तस्वीर में तालाब जैसा दिखाई देने वाला ये दृश्य किसी तालाब का नहीं बल्कि थाना भवन इलाके के गांव गोगवान जलालपुर की गलियों का है। गोगवान जलालपुर की गलियों में आजकल नालियों से निकलने वाला पानी इस तरह से भरा हुआ है, कि लोगों को इसी गंदे पानी से होकर अपने घरों तक पहुंचना पड़ता है। अब हालात ये है कि ये गंदा पानी लोगों के घरों में घुसना शुरू हो गया है। खासकर महिलाओं को इस गंदे पानी से गुजरने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले करीब 6 माह से वे नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। गंदे पानी में मच्छर पनपने से बीमारी फैल रही है। उन्होंने इसकी शिकायत कई बार उच्च अधिकारियों से की, लेकिन गांव का एक तालाब सिल्ट से भर गया है। जिस कारण गांव की गलियों से निकलने वाले पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। हालांकि कोई भी ग्रामीण इस समस्या को लेकर कैमरे के सामने कुछ भी कहने से कतरा रहा है।

पूर्व गन्ना मंत्री से शिकायत के बाद जांच में जुटी टीम

problem

वहीं कुछ ग्रामीणों ने इसकी शिकायत पूर्व गन्ना मंत्री सुरेश राणा से की है। गन्ना मंत्री ने जल्द ही समस्या के समाधान का आश्वासन दिया है। जिसमें उन्होंने सीडीओ शामली शंभू नाथ तिवारी को जल्द समाधान करने के आदेश दिए थे। पूर्व गन्ना मंत्री के द्वारा मामले में हस्तक्षेप करते ही थानाभवन खंड विकास अधिकारी अजय कुमार एवं सिंचाई विभाग के अवर अभियंता अमित कुमार राठी गांव में जांच करने पहुंचे और लोगों से समस्या के बारे में जानकारी ली। उन्होंने ओवरफ्लो हुए तालाब का निरीक्षण किया और जल्द ही तालाब की खुदाई करवाने और समस्या के समाधान का आश्वासन दिया।