आशा पुष्प विहार सोसाइटी के लोग है बेहद परेशान, सरकार की तरफ से नही है पीने के पानी की व्यवस्था

सोसाइटी में लगे आरो पानी के प्लांट को जीडीए की टीम ने तोड़

 
water problem

 

  • रिपोर्टः अजीत रावत

गाजियाबाद के कौशांबी स्थित आशा पुष्प विहार सोसाइटी में आजकल लोग बेहद परेशान हैं सरकार की तरफ से पीने के पानी की कोई व्यवस्था नहीं है। सोसायटी के लोगों ने सामूहिक रुप से आरो पानी का एक प्लांट लगाया और सभी फ्लैटों में पीने के पानी की व्यवस्था की लेकिन जीडीए की टीम ने उसे तोड़ दियाय़ जिसके बाद सोसाइटी के लोग बेहद गुस्से में हैं और पीने के पानी की किल्लत बनी हुई है।

दरअसल... ये तस्वीर कौशांबी के पॉश इलाके की आशा पुष्प सोसाइटी की है, जहां लोग इकट्ठा हैं और प्रशासन से काफी नाराज हैं। इनका आरोप है कि जीडी की टीम ने उनका आरो का प्लांट तोड़ दिया जिससे वे घरों में पीने के पानी की सप्लाई देते थे 20 साल से ये प्लांट लगा है और कोई भी सरकारी व्यवस्था ऐसी नहीं है जिससे लोगों की प्यास बुझाई जा सके। सोसायटी के सभी रेजीडेंट ने इकट्ठा होकर अपने खर्च पर प्लांट लगवाया और उसके बाद रसोई तक पानी पहुंचाया क्योंकि सरकारी तौर पर कोई भी पीने के पानी की व्यवस्था इस सोसाइटी में नहीं है। 20 साल पुराने इस पानी के प्लांट को आज जीडीए की टीम ने तोड़ दिया जिसके बाद यहां के लोग बेहद नाराज है।

इस आशा पुष्प सोसाइटी में समस्या परेशानी भरी है, क्योंकि घरों में पीने के लिए पानी नहीं है जो पानी का स्रोत था और जीडीए की लापरवाही से खत्म कर दिया गया है। प्राधिकरण के जुड़े लोग इस बात पर चुप्पी साधे हुए हैं उनका सिर्फ ये कहना है कि पहले नोटिस दिया गया उसके बाद कार्रवाई की गई जबकि रेजिडेंट कह रहे हैं कि प्राधिकरण के अधिकारियों कर्मचारियों ने मिलीभगत करके प्लांट को तोड़ा है, जो एक बड़ी समस्या के रूप में यहां के लोगों के सामने आया है। स्थानीय पार्षद से लेकर तमाम रेजिडेंट प्रशासन को खरी-खोटी सुना रहे है।

एफवीओः- सोसायटी के लोगों का आरोप है कि प्रशासन को लोगों की समस्या पैदा करना नहीं समस्याओं का निदान करना है रेजिडेंट गाजियाबाद के जिलाधिकारी और गाजियाबाद जीडीए उपाध्यक्ष से भी बातचीत की है। लेकिन कोई समाधान नहीं निकला लिहाजा लोग परेशान है।