गजियाबाद के लोनी की गलियां तालाब में हुई तब्दील, जनप्रतिनिधि मौन

नारकीय जीवन जीने पर मजबूर चमन विहार और विजय विहार कॉलोनी की जनता

 
गाजियाबाद

  • रिपोर्टः सूरज शर्मा

गाजियाबाद। दिल्ली से सटे जनपद गाजियाबाद में लोग नारकीय जीवन जीने पर मजबूर है। यहां लोनी के वार्ड नंबर 45 चमन विहार इलाके जल निकास के लिए नालियां नहीं बनी हैं। जिसकी वजह से घरों से निकलने वाला गंदा पानी जगह-जगह खाली प्लाटों में भर रहा है। इलाक़े के देवालयों में भी गंदा पानी भरा हुआ है। कई जगहों पर सड़कों पर पानी भरा हुआ है। जिसकी वजह से लोगों को निकलने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दूसरी ओर जलभराव की वजह से बीमारियां फैलने की आशंका बनी हुई है। जलभराव की समस्या को लेकर कई बार वार्ड के लोगों ने नगर पालिका अधिकारियों को अवगत कराया है। इसके बावजूद भी जल निकासी के लिए कोई इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं।

दरअसल लोनी की चमन विहार और विजय विहार कॉलोनी में जगह-जगह पर जलभराव की समस्या है। घरों से निकलने वाले गंदे पानी के निकास के लिए नगर पालिका ने नालियों का निर्माण नहीं कराया है। जिसकी वजह से कॉलोनियों में जलभराव की समस्याएं हैं। भूखंडों पर जमा घरों के पानी से मच्छर पैदा हो रहे हैं जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरा बन रहे हैं। जलभराव के कारण लोग को निकलने तक के लिए परेशान होना पड़ रहा है। साथ ही में दो पहिया वाहनों को भी आने-जाने में काफी परेशानी होती है।

स्थानीय निवासियों का कहना हैं कि बस्तियों में नालियां क्षतिग्रस्त पड़ी हुई हैं। लेकिन उनकी मरम्मत को लेकर नगरीय प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है। मरम्मत नहीं होने के कारण नालियों का गंदा पानी सड़कों पर भर रहा है। नालियों की मरम्मत के लिए कई बार मांग की गई। लेकिन फिर भी इलाक़े के लोगों को रोजाना समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।