चुनाव कानून विधेयक पर बोले एआईएमआई के प्रमुख, जानिए क्या कहा?

ये कानून 'सार्वभौमिक मताधिकार' के खिलाफ है

 
owisi

दिल्ली में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन यानी एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने चुनाव कानून (संशोधन) विधेयक, 2021 को 'सार्वभौमिक मताधिकार' के खिलाफ बताया। उन्होंने कहा कि ये पुट्टस्वामी के फैसले के खिलाफ है। सरकार के पास ऐसे कानून बनाने की विधायी क्षमता नहीं है। आधार में वोटर लिस्ट से 1.5 फीसदी ज्यादा गलतियां हैं। ये कानून सार्वभौमिक मताधिकार के खिलाफ है।

ये भी पढ़ेः असदुद्दीन ओवैसी ने टी20 को लेकर पीएम मोदी पर कसा तंज कहा, कश्मीर में हमारे 9 जवान शहीद हो गए और आप मैच खेलेंगे

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि इस बिल का विरोध किया, जबकि सरकार ने इसे सदन के हंगामे में पारित कर दिया. कानून को एक मजाक के रूप में पारित किया गया. मुझे अपनी आपत्तियां उठाने का भी समय नहीं दिया गया, जबकि अध्यक्ष ने मंत्री को विस्तृत बयान देने की अनुमति दी।

ये भी पढ़ेः एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने केंद्र सरकार की आलोचना

संसद में मंगलवार को पारित इस बिल का नाम इलेक्शन लॉज (अमेंडमेंट) बिल, 2021 है। इस बिल में आधार संख्या को वोटर लिस्ट या वोटर आईडी के साथ जोड़ने का प्रावधान किया गया है। जिस पर विपक्षी दलों के भारी विरोध देखने को मिल रहा हैं।