यूपीः बीजेपी को लगा जोर का झटका, स्वामी प्रसाद मौर्य इस्तीफा दे सपा की साईकिल पर हुए सवार

चुनाव के ठीक एक महीना पहले दिया कैबिनेट से इस्तीफा, ट्वीट के जरिए साझा की जानकारी

 
SAWAMI

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव से ठीक एक महीना पहले भारतीय जनता पार्टी को जोर का झटका लगा है। योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में श्रम एवं सेवायोजन एवं समन्वय मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी को टाटा-बाय-बाय बोल दिया है। साथ ही पार्टी पर गंभीर इल्जाम लगाए हैं। राज्यपाल को भेजे गए अपने इस्तीफे में स्वामी प्रसाद मौर्य ने बढ़ती बेरोजगारी, दलितों-पिछड़ों के प्रति बीजेपी सरकार के व्यवहार और व्यापारियों की उपेक्षा को अपने इस्तीफे की वजह बताया है। इतना ही नहीं स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद 3 अन्य बीजेपी विधायकों ने भी इस्तीफ़ा दे दिया है। जिनमें बिल्हौर से विधायक भगवती सागर, बांदा से विधयाक बृजेश प्रजापति और शाहजहांपुर से बीजेपी विधायक रोशन लाल शामिल है। इस्तीफे के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी की साइकिल पर सवार होने का ऐलान भी कर दिया है।

SAWAMI

सांसद बेटी करती रहेंगी कार्यः स्वामी
स्वामी प्रसाद मौर्य का कहना है कि वो मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे रहे हैं। हालांकि उन्होंने ये भी कहा है कि बेटी संघमित्रा मौर्य बदायूं से बीजेपी की सांसद के तौर पर अपना काम करती रहेंगी। 

बीजेपी ने नेताओं को झटका दिया, मैं बीजेपी को दे रहा हूं :स्वामी प्रसाद मौर्य
स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफे के दौरान कहा कि बीजेपी ने कई नेताओं को झटका दिया है और अब मैं उन्हें झटका दे रहा हूं। उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि पार्टी के उपेक्षात्मक रवैये के चलते मैं ये फैसला लेने के लिए मजबूर हुआ हूं। राज्यपाल को मैंने स्पष्ट बता दिया है कि किन वजहों से मुझे इस्तीफ़ा देने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने आगे कहा कि पिछले 5 सालों से हम उपेक्षा झेल रहे थे। अभी कई इस्तीफे बाकी है।


स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफे में क्या लिखा?
स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने इस्तीफे में लिखा कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में श्रम एवं सेवायोजन एवं समन्वय मंत्री के रूप में विपरीत परिस्थितियों एवं विचारधारा में रहकर भी बहुत ही मनोयोग के साथ उत्तरदायित्व का निर्वहन किया है, लेकिन दलितों, पिछड़ों, किसानों बेरोजगार नौजवानों एवं छोटे- लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के मंत्रिमंडल से इस्तीफा देता हूं।”
 

SAPA JOIN

सपा की साइकिल पर सवार हुए स्वामी, अखिलेश यादव ने किया स्वागत
बीजेपी से इस्तीफा देने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। जिसके बाद सपा सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी उनका स्वागत करते हुए ट्वीट किया। ट्वीट में उन्होंने लिखा कि सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता श्री स्वामी प्रसाद मौर्या जी एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन! 
सामाजिक न्याय का इंक़लाब होगा,  बाइस में बदलाव होगा।

बहुत दिनों से लग रही अटकलों पर लगा विराम
स्वामी प्रसाद मौर्य के बीजेपी को छोड़कर सपा में जाने की बहुत दिनों से अटकले लग रही थी। हालांकि इसकी कोई पुष्टि नहीं हो पा रही थी। पिछले काफी दिनों से इस बात को लेकर राजनीतिक गलियारे में चचाऐं आम थी। आखिरकार 11 जनवरी को स्वामी प्रसाद मौर्य ने तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए बीजेपी को छोड़ अखिलेश यादव के साथ चलने की घोषणा कर दी।