चुनाव कानून ‘संशोधन’ विधेयक 2021 को लेकर किरेन रिजिजू ने दी ये जानकारी... पढ़िए पूरी ख़बर

इस कदम से फर्जी वोटर्स पर लगाम लगेगी :किरेन रिजिजू

 
KIRAN RIJIJU

दिल्ली में संसदीय दल की बैठक के बाद चुनाव कानून (संशोधन) विधेयक 2021 पर बोलते हुए केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री किरेन रिजिजू ने कह कि आधार कार्ड को मतदाता सूची से जोड़ना अनिवार्य नहीं होगा, बल्कि स्वैच्छिक होगा। रिजिजू ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया को साफ रखने के लिए मतदाता सूची को साफ करने की जरूरत है। इस कदम से फर्जी वोटरों पर लगाम लगेगी। संसदीय स्थायी समिति की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए इस विधेयक पर चुनाव आयोग और कानून मंत्रालय के साथ विस्तार से चर्चा की गई है। हर कोई इसका समर्थन कर रहा है, कुछ ही लोग इसे एक विवादास्पद मुद्दा बनाना चाहते हैं

ये भी पढ़ेः गांव की रोड पर फैली गंदगी उड़ा रही स्वच्छ भारत अभियान की धज्जियां

किरेन रिजिजू ने कहा कि इलेक्शन लॉज बिल देश मे चुनावी प्रक्रिया को स्वच्छ और साफ सुथरा बनाने के लिए जरूरी है. अभी एक मतदाता तीन चार जगह निर्वाचक नामावली में अपना नाम शामिल करा लेता है. जो फर्जी वोटर हैं उन्हें भी वोटिंग लिस्ट से बाहर करना बहुत जरूरी है. विपक्ष का तर्क बिल्कुल गलत है. आधार कार्ड को लिंक करना अनिवार्य नहीं बनाया गया है. आधार नहीं होने पर भी किसी भी मतदाता का नाम वोटिंग लिस्ट से नहीं हटेगा।

ये भी पढ़ेः संचारी रोगों की रोकथाम के लिए अभियान हुआ जारी, लोगों को साफ-सफाई के प्रति किया जागरूक

रिजिजू ने बताया कि ये बिल निर्वाचक अधिकारी को ये अनुमति देता है कि जो पंजीकरण के लिए आधार नंबर देना चाहता है और इसके आधार पर अपनी पहचान सत्यापित करने को तैयार है. ये विधेयक लोकसभा से पहले ही पारित हो चुका है और राज्यसभा में है।