दिल्लीः सत्र की समाप्ति पर लोकसभा अध्यक्ष आम बिरला ने दी ये जानकारी

सदन के साथ अपने अच्छे काम को साझा किया :ओम बिरला

 
om birla

खबर राजधानी दिल्ली से हैं, जहां शीतकालीन लोकसभा का सातवां सत्र समाप्त हो गया हैं, सत्र के समाप्त होने पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि कुल 99 सांसदों ने कोविड-19 पर 12 घंटे 26 मिनट की लंबी चर्चा में भाग लिया, कोविड अवधि के दौरान संबंधित क्षेत्रों में उन्होंने सदन के साथ अपने सबसे अच्छे काम को साझा किया। इस शीतकालीन सत्र में लोकसभा की उत्पादकता लगभग 82 प्रतिशत थी।

ये भी पढ़ेः जेईई एडवांस में रैंक-1 हासिल करने वाले मृदुल अग्रवाल से ओम बिरला ने की फोन पर बात

लोकसभा अध्यक्ष ने बताया कि 29 नवंबर से शीतकालीन सत्र की शुरुआत हुई थी. इस बीच कुल 18 बैठकें हुई और 12 विधेयक पारित हुए. बिरला ने कहा ने कहा कि उनके लिए सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ही बराबर हैं। उन्होने सभी को अपनी बात रखने का पर्याप्त समय दिया है। उन्होंने कहा कि सदस्यों के विरोध दर्ज कराने के लिए अगर पहले आसन के समीप आने का कोई चलन रहा भी है, तब भी ये उचित नहीं है। ऐसी परंपरा नहीं होनी चाहिए। बिरला ने कहा कि सदन में चर्चा नियमों एवं प्रक्रियाओं के तहत होती है

बिरला ने कहा कि लोकतंत्र में सहमति और असहमति स्वाभाविक हैं लेकिन नियोजित तरीके से सदन में व्यवधान डालना ठीक नहीं है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस सत्र में 70 प्रतिशत विधेयकों को संसदीय समितियों के समक्ष भेजा गया।