नितिन गडकरी ने 755 करोड़ की 3 परियोजनाओं का किया लोकार्पण

यूपी के मुजफ्फरनगर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान किया लोकार्पण
 
nitin gadkari in muzaffarnagar

  • रिपोर्टः यश चौधरी

मुजफ्फरनगर। सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि अब 100 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल की जरूरत नहीं है। इसके बदले 62 रुपये प्रति लीटर का इथनॉल इस्तेमाल होगा। जिसके लिए देश में इथनॉल पंप लगाए जाएंगे।


शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में पहुंचे। शहर के जीआईसी मैदान में आयोजित भव्य कार्यक्रम के दौरान उन्होंने 755 करोड़ की लागत से 101 किमी राष्ट्रीय राजमार्गों का शिलांयास/लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने चौधरी चरणसिंह के फोटो पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह, केंद्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान, गन्ना मंत्री सुरेश राणा, राज्यमंत्री कपिलदेव अग्रवाल, विधायक उमेश मलिक, विधायक संगीत सोम और जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला आदि मौजूद रहे।

nitin

दिल्ली से देहरादून पहुंचने में लगेंगे 2 घंटे
केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मुजफ्फरनगर में कुल 3 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली से देहरादून का सफर दो घंटे, दिल्ली से हरिद्वार का सफर भी 2 घंटे, दिल्ली से अमृतसर का सफर महज 4 घंटे और दिल्ली से मुंबई का सफर केवल 10 घंटे में तय होगा।

गन्ना, चावल और मक्का से बनेगा इथनॉल
केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अपने संबोधन में बताया कि अब 100 रुपये लीटर का पेट्रोल खरीदने की कोई आवश्यकता नहीं है। गन्ने के रस, चावल की किनकी और कॉर्न मक्की से इथनॉल तैयार किया जाएगा, जिसकी कीमत 62 रुपये प्रति लीटर होगी। उन्होंने ये भी कहा कि इथनॉल के पंप लगाए जाएंगे।

sanjeev

मुजफ्फरनगर सांसद संजीव बालियान ने रखी ये दो मांगे
केंद्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान ने परिवहन मंत्री नितिन गड़करी के सामने जिले के चहुमुखी विकास के लिए जनपद की अवाम और अपनी तरफ से दो मांगे रखी। बालियान ने पिनना कट से वहलना चोक होते हुए दिल्ली-देहरादून हाईवे-58 तक मार्ग के चौड़ीकरण और वहलना चौक पर 10 किमी लंबे ऑवर ब्रिज के लिए 250 करोड़ रुपये स्वीकृत किए जाने की मांग रही। इसके अलावा संजीव बालियान ने नेशनल हाईवे-58 पर मेरठ से मुजफ्फरनगर के बीच 245 करोड़ रुपये के अतिरिक्त कार्य के लिए भी स्वीकृत किए जाने की मांग की।