अयोध्या में चला अनमय की जान बचाने के लिए अभियान

स्पाइनर मस्कुलार एट्रोफी की बिमारी से पीड़ित है अनमय

 
Campaign

 

  • रिपोर्टः शंकर श्रीवास्तव

अयोध्या। राम की नगरी अयोध्या में मां शेरावाली न्याय धाम सेवा समिति एवम सामाजिक कार्यकर्ताओ द्वारा एक अभियान चलाया गया। दरअसल माह के बच्चे अनमय को स्पाइनर मस्कुलर एट्रोफी जैसी जटिल बिमारी से जूझते महीने हो गए है। जहां 8 स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी से पीड़ित आठ माह के बच्चे अनमय के उपचार के लिए युवाओं की एक टोली अतुल सिंह और विकास तिवारी के नेतृत्व में राम पैड़ी घाट पर अनमय मदद के नाम की तख्तिया हाथो में लेकर क्राउड फंडिंग के माध्यम से मदद धनराशि जुटाने का अभियान चला रही है।

दरअसल... डॉक्टरों का कहना है कि अनमय की जान बचाई जा सकती है और वो भी दूसरे सामान्य बच्चे की तरह जिंदगी जी सकता हैं। लेकिन इसके लिए उन्हें एक विशेष इंजेक्शन जल्द से जल्द लगवाना होगा। इस इंजेक्शन के एक डोज की कीमत 16 करोड़ रुपये है। जिसे चुकाना किसी भी निम्न मध्यम वर्गीय परिवार के लिए संभव नहीं है। लिहाजा बच्चे की जान बचाने के लिए उनके माता-पिता क्राउडफंडिंग के जरिए मदद की गुहार लगा रहे हैं। बलराम सीता ने बताया कि दुर्लभ बीमारी एसएमए टाइप-१ से पीड़ित बच्चों के अंग धीरे-धीरे काम करना बंद कर देते हैं और उन्हें सांस लेने तक में बहुत परेशानी होने लगती है। इसके लिए ये इंजेक्शन इन्हें जल्द से जल्द मिल जाना चाहिए। उन्हें उम्मीद है कि लोग आगे आएंगे और अनमय की जान बचाई जा सकेगें।