कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया सत्याग्रह, निकाली भड़ास

केंद्र सरकार और ईडी का फूंका पुतला

 
PROTEST

 

  • रिपोर्टः राहुल तिवारी

इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा में कांग्रेस पार्टी द्वारा केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ शास्त्री चौराहे पर शास्त्री की प्रतिमा नीचे सत्याग्रह किया एवं केंद्र सरकार और ईडी का पुतला फूंककर विरोध जताया। राहुल गांधी और सोनिया गांधी को नेशनल हेराल्ड के झूठे केस में बार-बार बुलाए जाने के विरोध में ये सत्याग्रह किया गया है।

पीसीसी सदस्य सुखराम सिंधी ने कहा कि केंद्र सरकार ईडी का दुरुपयोग कर रही है, केवल विरोधी पार्टी के नेताओं को बुलाकर उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है और सरकार के विरोध में उठने वाली आवाज को दबाने का काम किया जा रहा है। जिला अध्यक्ष मलखान सिंह यादव ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा कांग्रेस पार्टी के नेताओं को डराने धमकाने से सरकार की जवाबदेही खत्म नहीं हो जाएगी। कांग्रेस पार्टी जनता की आवाज और उनके मुद्दे को उठाने का काम करती रहेगी उनके नेता सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी जो जनता की आवाज बनकर इस सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने का काम करते हैं उन्हें ईडी के माध्यम से बेवजह परेशान किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि वे माननीय प्रधानमंत्री से प्रश्न पूछना चाहते हैं डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत 80 पार हो गई सरकार क्या कर रही है पेट्रोल डीजल और रसोई गैस की कीमतें आसमान छू रही हैं। जनता को राहत कब मिलेगी सरकार किसानों की आय दोगुनी कब करेगी अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश में लोक निर्माण विभाग में हुए ट्रांसफर घोटाले को लेकर माननीय मुख्यमंत्री से आईडी पूछताछ कब करेगी।

शहर अध्यक्ष पल्लव दुबे ने कहा जिनको लगता है कि सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी ने नेशन हेराल्ड में हेराफेरी की है। उनको इलाहाबाद जाकर देखे गांधी परिवार का इलाहाबाद में स्थित आनंद भवन स्वराज भवन कमला नेहरू मेमोरियल जिसकी आज बाजार भाव के हिसाब से 20 नेशन हेराल्ड जैसी संस्थाएं खरीदी जा सकती हैं। सोनिया गांधी की सास एवं राहुल गांधी की दादी इंदिरा गांधी ने इन सभी संपत्तियों को राष्ट्र को समर्पित कर दिया। जुल्मी जब जब जुल्म करेगा सत्ता के गलियारों से चप्पा चप्पा गूंज उठेगा इंकलाब के नारों से सत्याग्रह में प्रमुख रूप से कोमल सिंह कुशवाहा, संजय तिवारी, सुरेंद्र सिंह चौहान, कमला वर्मा, संजय दोहरे ,कुसुमलता उपाध्याय, आलोक यादव ,सरवर अली, यशपाल यादव, रणवीर सिंह यादव, रामजीवन कुशवाहा, शिवराम यादव पूर्व प्रधान, सुरेश शाक्य ,आसिफ जादरान, अंबुज त्रिपाठी, महेश कटारे, कुलदीप शर्मा, वाचस्पति दुबे, अवनीश वर्मा, सत्येंद्र महेश्वरी, मोहन लाल प्रजापति, हरेंद्र दिवाकर , सरवरी बेगम, अंसार अहमद, सुबोध यादव, उपेंद्र यादव, विनोद राजपूत, आदि लोग उपस्थित रहे।