मुजफ्फरनगर में भाकियू कार्यकर्ताओं ने विकास खंड कार्यालय पर जड़ा ताला, लगाए गंभीर आरोप

एसडीएम और खंड विकास अधिकारी के आश्वासन के बाद खोला गया ताला

 
मुजफ्फरनगर

मुजफ्फरनगर। बुढ़ाना में भाकियू कार्यकर्ताओं ने विकास खंड कार्यालय के कर्मचारियों और अधिकारियों पर भ्रष्टाचार समेत कई गंभीर आरोप लगाते हुए धरना दिया। साथ ही कार्यालय पर ताला भी जड़ दिया। धरना स्थल पर पहुंचे एसडीएम और खंड विकास अधिकारी के एक सप्ताह में कार्रवाई करने के आश्वासन पर भाकियू कार्यकर्ताओं ने धरना समाप्त कर ताला खोला।

भाकियू के तहसील अध्यक्ष अनुज बालियान और ब्लॉक अध्यक्ष संजीव पंवार के नेतृत्व में भाकियू कार्यकर्ता विकास खंड कार्यालय परिसर में धरने पर बैठ गए। अनुज बालियान ने कहा कि वृद्धावस्था-विधवा पेंशन, जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र आदि के बनवाने में अवैध रूप से वसूली की जाती है। कोई भी प्रमाण पत्र सुविधा शुल्क लिए बिना जारी नहीं किया जाता है। मनरेगा कार्यों और सफाई के नाम पर फर्जी बिल बनाए जा रहे हैं।

अनुज बालियान ने कहा कि रसूलपुर दभेड़ी गांव में सस्ते गल्ले की दुकान का आवंटन अनियमितता पूर्वक किया गया है। ब्लॉक के सभी गांवों में गंदगी और कीचड़ भरा हुआ है। सफाई कर्मचारी गांव में नहीं जाते। जलभराव की समस्या गंभीर है। गांव के रास्ते टूटे हुए हैं। विकास कार्य ठप पड़े हैं। लगातार की जा रही शिकायतों के बावजूद सुनवाई न होने से नाराज भाकियू कार्यकर्ताओं ने खंड विकास अधिकारी कार्यालय पर ताला लगा दिया।

सूचना मिलते ही खंड विकास अधिकारी सतीश कुमार और उप जिलाधिकारी अरुण कुमार धरनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने भाकियू कार्यकर्ताओं को एक सप्ताह में समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। इस आश्वासन पर कार्यकर्ताओं ने धरना समाप्त किया।