भारतीय वाल्मीकि समाज ने जिला अधिकारी के माध्यम से पीएम भारत सरकार को प्रेषित किया ज्ञापन

भगवान वाल्मीकि को चोर डाकू कहने वालों पर की कार्रवाई की मांग

 
GYAPAN

 

  • रिपोर्टः नरेश गोयल

सहारनपुर। यूपी के सहारनपुर में शनिवार को भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज के द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचकर, जिला अधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री भारत सरकार को एक ज्ञापन प्रेषित किया गया। वीर सोनू बिरला एडवोकेट प्रदेश सचिव भावाधस ने कहा है कि पटियाला यूनिवर्सिटी की वाल्मीकि चेयर पर्सन की चेयरमैन डॉक्टर मंजुला सहदेव के शोध के अनुसार उत्तर वैदिक काल से 9वीं शताब्दी तक इतिहास में कहीं भी भगवान वाल्मीकि को चोर डाकू होने का प्रमाण नहीं पाया गया है, जिस पर उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि इस तरीके से अगर कोई भी भगवान वाल्मीकि को डाकू, चोर इत्यादि कहता है, तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाए। इस दौरान उन्होने भारत की संसद में ऐसे दुष्प्रचार के खिलाफ कानून बनाकर और गूगल से रत्नाकर डाकू, चोर इत्यादि अति शीघ्र हटाने की मांग की।