महज 7महीने में टूटी 9.23करोड़ की लागत से बनी RMC की सड़क, लोगों मे आक्रोश

टूटी सड़क को लेकर संगम विहार के लोगों का दिल्ली सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

 
DELHI

 

  • रिपोर्ट: अभिषेक नयन

दिल्ली। जहां एक तरफ दिल्ली की सत्ता में काबिज केजरीवाल सरकार ईमानदारी की बात करती है वहीं दूसरी तरफ संगम विहार इलाके में 9.23 करोड़ रुपये की लागत से बनी दिल्ली सरकार के सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग की सड़क महज से 7 महीने में ही जगह जगह से टूटनी शुरू हो गई। हालात इस कदर खराब है कि जो सड़क लगभग डेढ़ फुट बनाई जानी थी वह सड़क महज दो से 3 इंच ही बनी है जिसके कारण संगम विहार के रतिया मार्ग पर जगह-जगह सड़क पर दरारें आ गई है और सड़क टूटने लगी है। जो सड़क इमानदारी से 10 साल चलने वाली थी वो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई और महज़ छह-सात महीने में ही दम तोड़ने लगी है। इस मामले को लेकर इलाके की आरडब्ल्यूए व स्थानीय लोगों ने पैदल मार्च कर आम आदमी पार्टी के विधायक एवं दिल्ली सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

संगम विहार इलाके की महिलाएं भी टूट रही सड़कों से बेहद परेशान है और अब वह भी समझ गई है कि केजरीवाल सरकार के इस भ्रष्टाचार की भेंट रतिया मार्ग की यह सड़क भी चढ़ गई है। सड़क बनाने में हुए करोड़ों के भ्रष्टाचार के खिलाफ संगम विहार इलाके की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन और इलाके के लोग दिल्ली सरकार के सड़क बनाने वाले सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग एवं विधायक दिनेश मोहनिया के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए भ्रष्ट विधायक दिनेश मोहनिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जमकर हाय हाय कर भ्रष्ट सरकार को कोस रहे हैं।

इलाके के लोग अब इस पूरे मामले की जांच कराने के लिए जगह-जगह शिकायत भी कर रहे हैं लेकिन देखना अब ये दिलचस्प होगा कि क्या इस सड़क की निष्पक्ष रुप से जांच हो पाती है या नहीं?