गाजियाबाद में दिखा संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान का खासा असर

अग्निपथ योजना को वापस लेने के लिए की आवाज बुलंद

 
प्रदर्शन

  • रिपोर्टः अजीत रावत

गाजियाबाद। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा देशभर में 24 जून को अग्नि पथ योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान किया गया था। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा था कि शुक्रवार यानी 24 जून को देशभर के जिला मुख्यालयों पर मोर्चे के अंतर्गत आने वाले संगठन अपने सहयोगी संगठनों और विरोधी दलों के साथ मिलकर अग्निपथ स्कीम वापस लेने के लिए आवाज उठाएंगे। इसी को लेकर गाजियाबाद में संयुक्त किसान मोर्चा ने जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया।

गाजियाबाद में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान का काफी असर देखने को मिला। सुबह 9:00 बजे से ही भारतीय किसान यूनियन के नेता और कार्यकर्ता जिला मुख्यालय पर जुटने शुरू हो गए। 11 बजते ही किसानों की बड़ी संख्या इकट्ठा हुए। जिसके बाद सभी किसान केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जिला मुख्यालय में गए और प्रशासनिक अधिकारियों को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शनकारियों में बड़ी संख्या में युवा और महिलाएं भी मौजूद रही। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि सरकार को अग्निपथ स्कीम को वापस लेना पड़ेगा।

भाकियू जिलाध्यक्ष ने कहा कि 4 साल की भर्ती किसी भी तरह से युवाओं को समझ में नहीं आ रही है। जिस तरह से किसान आंदोलन के दौरान युवा किसानों के साथ डटकर खड़े हुए थे। उसी तरह किसान युवाओं के साथ के साथ खड़ा हुआ है. और उनकी आवाज को बुलंद कर रहा है. किसान आखरी सांस तक युवाओं के साथ डटकर खड़ा रहेगा और सरकार को एक ना एक दिन युवाओं की बात माननी पड़ेगी।