बाराबंकीः बलिदान दिवस के रूप में मनाई गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि

पार्टी कार्यकर्ताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके व्यक्तित्व पर की चर्चा

 
बीजेपी

  • रिपोर्टः कपिल सिंह

बाराबंकी। बीजेपी पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पंकज गुप्ता पंकीके आवास पर जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि बलिदान दिवस के रूप में मनाई गई। पार्टी कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर चर्चा की।

भारतीय जनता पार्टी के नेता और अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज गुप्ता पंकीने कहा कि श्यामा प्रसाद जी ने मां भारती की सेवा के लिए अपना जीवन समर्पित किया। देशहित में अनेक कार्य किए, जिन्हें भुलाना संभव नहीं है। हम सभी को उनके जीवन तथा उनके कार्यों से प्रेरणा लेनी चाहिए और यह संकल्प लेना चाहिए कि स्वहित से बड़ा देशहित होता है।

बीजेपी

मुखर्जी ने सन 1951 में भारतीय जनसंघ की स्थापना की और दो निशान, दो विधान और दो संविधान का खुला विरोध किया था। कश्मीर समस्या को लेकर बड़े संघर्ष की शुरूआत की। तत्कालिक कांग्रेस सरकार के कुचक्र के कारण मुखर्जी जेल गए और जेल में ही संदिग्ध हालत में मां भारती की सेवा में अपना जीवन बलिदान किया। निःसंदेह डॉ. मुखर्जी देश के सच्चे सपूत थे।

आपको बता दें कि ये विचार गोष्ठी में राजन शर्मा, आषीश सिंह आनंद, अमर गांधी, नवीन, राम सुचित वर्मा, जेपी मिश्रा आदि लोगों ने गोष्ठी में सम्मिलित होकर कहे। और डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें नमन किया।