मीरापुर में धूमधाम से मनाया विश्वकर्मा महोत्सव, हवन-यज्ञ के बाद किया गया भंडारा

सर्व समाज के लोगों ने बड़ी संख्या में यज्ञ में दी आहुति

 
मुजफ्फरनगर

  • रिपोर्टः ऋतु मोहन (मीरापुर)

मुजफ्फरनगर। पूरे देश में शनिवार को विश्वकर्मा महोत्सव बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया। इसी कड़ी में मुजफ्फरनगर के कस्बा मीरापुर में भी विश्वकर्मा जयंती बड़ी ही धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर विश्वकर्मा युवा कल्याण समिति के तत्वाधान में सृष्टि के कल्याण के लिए हवन यज्ञ और भंडारे का आयोजन किया गया।

मीरापुर में विश्वकर्मा युवा कल्याण समिति के तत्वाधान में भगवान विश्वकर्मा का जन्मोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। थाने के समीप आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम विश्वकर्मा युवा कल्याण समिति के अध्यक्ष मोहन धीमान, प्रदीप धीमान, लोकेश धीमान ने संयुक्त रूप से भगवान विश्वकर्मा के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इसके बाद विश्वकर्मा समाज द्वारा सृष्टि के कल्याण के लिए विशाल हवन यज्ञ किया गया। जिसमें सर्व समाज के काफी लोगों ने आहुति दी। सुरेंद्र धीमान और जयभगवान आर्य ने मन्त्रोंचारण से वातावरण को भक्तिमय बना दिया। इसके बाद भगवान विश्वकर्मा को भोग लगाकर विशाल भंडारे का शुभारंभ किया गया। भंडारे में सर्व समाज के लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।

कार्यक्रम के यजमान मोहन धीमान और पूनम धीमान रहे। इस दौरान समिति के अध्यक्ष मोहन धीमान ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा देव शिल्पी और विज्ञान के रचियता है। आज के इस युग में अपनी पहचान रखने वाली शिल्प कलाऐं भगवान विश्वकर्मा की ही देन है। लोकेश धीमान ने बताया कि इस पूजा को करने के पीछे मान्यता है कि इससे व्यक्ति की शिल्पकला का विकास होता है और व्यापार में तरक्की मिलती है।