रसमलाई नहीं मिलने पर बिना दुल्हन के लौटी बारात, FIR दर्ज होने पर एक दिन बाद हुए 7 फेरे

बारातियों और घरातियों के बीच विवाद को लेकर टूट गई थी शादी

 
शादी

  • रिपोर्टः सद्दाम हुसैन

संभल। उत्तर प्रदेश के संभल में बिटिया की शादी को लेकर एक घर में खुशियों का माहौल था. दुल्हन हाथों में मेहंदी लगाए और लाल जोड़े में हजारों सपने संजोए बैठी थी। परिवार में नाच-गाना चल रहा था. और बारात भी तय समय पर पहुंची थी। बारातियों का जोरदार स्वागत भी हुआ। लेकिन शादी में आए दूल्हे के कुछ दोस्तों और रिश्तेदारों ने शराब पी रखी थी और वो बार-बार रसमलाई की डिमांड कर रहे थे। रसमलाई नहीं मिलने से विवाद इतना बढ़ गया कि शादी ही टूट गई। इसके बाद दूसरे दिन 16 जून को दूल्हे पक्ष और दुल्हन पक्ष के बीच बातचीत हुई और समझौता हुआ। फिर से दोनों परिवारों ने अधूरी शादी पूरी कराई और दुल्हन की विदाई हुई।

बनियाठेर थाना इलाके में ग्राम बनियाखेड़ा में 15 जून को दियौरा खास मुरादाबाद से बारात आई थी। बारात में खाने के दौरान रसमलाई को लेकर कहासुनी हुई उसके बाद मामला इतना बड़ा गया कि दोनों तरफ से जमकर मारपीट शुरू हो गई जिसमें कई लोग घायल हो गए। फिर क्या था शादी का रंग भंग हो गया और बारात वापस लौट गई। वहीं लड़की पक्ष ने थाना बनियाठेर पहुंच कर लड़के पक्ष के चार लोगों ने खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी। लेकिन कहानी में ट्वीट्स उस समय आया जब अगले दिन दूल्हा अपने पिता और दोस्त को लेकर लड़की के घर रात में पहुंच गया और बोला हम दोनों सहमत है. तो फिर आप लोग क्यों हमारी शादी के दुश्मन बन रहे है।

लड़का-लड़की की आपसी सहमति बनी और तुरंत पंडित को बुलाया गया। इसके बाद अंधेरे में ही फेरे की रश्म शुरू हो गई। जल्दी-जल्दी दुल्हन के परिजनों ने चार बारातियों के लिए खाना बनाना भी शुरू कर दिया। होते-होते 11 बजे तक फेरे भी हो गए। सुरेश और ममता ने सभी विवादों को पीछे छोड़ते हुए एक दूसरे को अपना जीवन साथी बना लिया।