मुजफ्फरनगरः राजस्थानी कलाकार महेशा राम के भजन सुनकर सराबोर हुए श्रोता

प्रधानाचार्य ने कलाकारों को स्मृति चिन्ह भेंट कर किया आभार व्यक्त

 
MZN

  • रिपोर्टः गोपी सैनी

मुजफ्फरनगर। जडौदा में स्थित होली चाइल्ड पब्लिक इंटर कॉलेज के प्रांगण में स्पिक मैके द्वारा राजस्थानी लोक संगीत एवं गीतों की शानदार प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम का शुभारंभ राजस्थानी लोक संगीत कलाकार महेशाराम, आरएम तिवारी, वीके जैन, रजनीश कुमार, पंकज धीमान, अभिनव, सागर, रीटा दहिया एवं प्रधानाचार्य प्रवेंद्र दहिया द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रधानाचार्य प्रवेंद्र दहिया एवं रजनी शर्मा द्वारा किया गया।

राजस्थानी कलाकार महेशाराम और उनके सह-कलाकार तेजाराम, मुल्तान खान, रामूराम, गोपाल इनखीया, छगनाराम और सत्तार खान द्वारा ‘‘मेरा सतगुरू आंगन आया’’, ‘‘प्यारे गजानंद’’, ‘‘छोटी-छोटी गय्या, छोटे-छोट ग्वाल’’, ‘‘माहरो पधारों देश रे’’ एवं ‘‘झूलेलालम’’ की शानदान प्रस्तुति देकर सभी को अपनी गायन एवं वादन कला से भाव-विभोर कर दिया। महेशाराम ने बताया कि अगर कोई व्यक्ति राजस्थान को समझना चाहता है तो वो यहां का लोक संगीत सुन ले। संपूर्ण राजस्थान सुरीली स्वर लहरियों में विरल होकर यहां के लोक गीत में समाया हुआ है। महेशाराम के मुताबिक लोक संगीत की ये धारा दो रूपों में प्रवाहित हुई। जनसाधारण द्वारा, सामाजिक उत्सवों, जन्म, विवाह, स्वागत संस्कार, होली आदि अवसरों पर गाए जाने वाले लोक संगीत होते है और राजाओं सामन्तों की प्रशस्ति में और उनके आमोद-प्रमोद के लिए गाए जाने वाला लोक संगीत पारम्परिक उत्सवों एवं सामाजिक पर्वों पर गाए जाने वाले गीत बहुत सुकोमल और मन को छूने वाले होते है।

प्रधानाचार्य प्रवेंद्र दहिया ने कलाकारों और अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए भारतीय लोक संगीत एवं गीतों को विद्यार्थियों तक पहुंचाने के लिए स्पिक मैके का महत्वपूर्ण योगदान बताया। कार्यक्रम में अतिथियों के रूप में राजीव कुमार (अध्यक्ष बाल कल्याण समिति), प्रिया (प्रबंधक, ग्रामीण बैंक जडौदा) अशोक कुमार, मुनेश देवी, मनोज पाल उपस्थित रहें और कलाकारों को स्मृति चिह्न भेंट कर आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को सुव्यवस्थित और सुचारू रूप से संचालित करने में विद्यालय के समस्त शिक्षक, शिक्षिकाओं का महत्वपूर्ण सहयोग रहा।