सूचना एवं जनसंपर्क विभाग उत्तर प्रदेश के 10 कर्मचारी हुए सेवानिवृत्त, अपर निदेशक ने किए सम्मानित

अंशुमान राम त्रिपाठी ने की सेवानिवृत्त अधिकारियों और कर्मचारियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना

 
लखनऊ

लखनऊ। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग उत्तर प्रदेश के 10 कर्मियों के सेवानिवृत्त होने पर विभाग के सभागार में विदाई समारोह कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में अपर निदेशक सूचना अंशुमान राम त्रिपाठी ने सेवानिवृत्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को माल्यार्पण और शाल पहनाकर उनको सम्मानित किया। अपर निदेशक सूचना द्वारा सेवानिवृत्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विभाग की सेवा की यादों के रूप में स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया।

अपर निदेशक सूचना ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारी एवं कर्मचारी है। उन्होंने उपस्थित लोगों को सेवानिवृत्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा दी गई सेवाओं के बारे में बताते हुए उनके कार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि कार्य करने वाले कर्मचारी को एक दिन सेवानिवृत्त होना ही होता है। कर्मचारी अपने सेवाकाल में विभाग द्वारा दिए गए दायित्वों का जिम्मेदारी के साथ निर्वहन करता है. और उसी के अनुसार उसके जीवन की दिशा तय होती है। सेवानिवृत्त होने के बाद उसे अब स्वयं के लिए और अपने परिवार एवं प्रियजनों के लिए पूरा समय मिलता है। जिससे वो सभी अपनों के सुख-दुःख में भागीदार भी बन पाता है। उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विभाग से संबंधित उनकी किसी भी तरह की समस्या के समाधान के लिए हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।

सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों में विभाग के उप निदेशक सूचना ओपी राय, सहायक निदेशक ऋषि सक्सेना, प्रशासनिक अधिकारी हरि प्रसाद सिंह, अध्यक्ष निकासी मुकेश वाजपेयी, वाहन चालक रूप नारायण सिंह, कैमरा अटेंडेंट राम अवतार कोली, रेडियो मिस्त्री देवेश कुमार वर्मा, दफ्तरी महेश चंद्र, मददगार मीना और अशोक चन्द्र तिवारी हैं।

कार्यक्रम का संचालन युवराज सिंह परिहार और संजय निर्मल ने किया। कार्यक्रम में संयुक्त निदेशक सर्वेश दुबे, भूपेंद्र सिंह यादव, उप निदेशक हरिशंकर त्रिपाठी, कुमकुम शर्मा, प्रभात शुक्ला, ललित मोहन, फिल्म निर्माण अधिकारी संजय अस्थाना, सहायक निदेशक सतीश चंद्र भारती समेत विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।