गरीब कल्याण सम्मेलन में लाभार्थियों को मिला योजनाओं का लाभ

डीएम ने अधिकारियों को दिए योजनाओं का प्रचार करने के निर्देश

 
publicize the schemes

  • रिपोर्टः कपिल सिंह

बाराबंकी। गरीब कल्याण सम्मेलन के अंतर्गत देश एवं प्रदेश स्तर पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री  का विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों के साथ संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बाराबंकी में भी इस कार्यक्रम के सजीव प्रसारण का आयोजन जीआईसी ऑडिटोरियम समेत सभी विकास खंडों में किया गया। जीआईसी आडिटोरियम समेत सभी विकासखंडों में जनपद की विभिन्न योजनाओं और प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी,  मुख्यमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, उज्ज्वला योजना, वन नेशन वन राशन कार्ड योजना, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, पोषण अभियान, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, आयुष्मान भारत योजना, स्वच्छ भारत मिशन, जल जीवन मिशन, पीएम स्वनिधि योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन आदि के सैकड़ों लाभार्थियों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के विभिन्न जनपदों के लाभार्थियों से किये गए संवाद कार्यक्रम का अवलोकन किया।

Garib Kalyan Sammelan

सांसद उपेंद्र रावत ने कहा कि सरकार की मंशा है. कि गरीब कल्याण सम्मेलन द्वारा प्रत्येक गरीब पात्र व्यक्ति को सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ मिले। इस दौरान उन्होंने कार्यकत्रियों को साड़ी वितरित, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत चाभी वितरण, प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना के तहत ऋण वितरण,  आयुष्मान को लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, खाद्य एवं रसद विभाग, मुद्रा स्कीम आदि योजनाओं का लाभ प्रदान किया गया।

Garib Kalyan Sammelan

जिलाधिकारी आदर्श सिंह ने कहा कि विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों एवं अधिकारियों को जो उत्तरदायित्व एवं लक्ष्य दिया गया है. उसका अच्छे ढंग से निर्वहन करें और गांव-गांव तक विभिन्न लाभार्थीपरक योजनाओं का प्रचार प्रसार करें ताकि अधिक से अधिक लोग इन योजनाओं का लाभ ले सके और इनसे जुड़ सकें। वहीं कार्यक्रम में आए हुए विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों का जिलाधिकारी ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम के दौरान गर्भवती महिलाओं की गोद भराई भी की गई।

कार्यक्रम के दौरान बीजेपी जिलाध्यक्ष शशांक कुशमेश, जिला पंचायत अध्यक्ष राजरानी रावत, मुख्य विकास अधिकारी एकता सिंह, उपजिलाधिकारी नवाबगंज, परियोजना निदेशक डीआरडीए, परियोजना निदेशक डूडा, मुख्य चिकित्साधिकारी, एसीएमओ, जिला पूर्ति अधिकारी, संरक्षक हितेंद्र कुमार समेत विभिन्न योजनाओं के सैकड़ों लाभार्थी मौजूद रहे।