डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाबी

गरीब कल्याण जनसभा कार्यक्रम को किया संबोधित

 
डिप्टी सीएम

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सुल्तानपुर स्थित राम नरेश त्रिपाठी सभागार के प्रांगण में आयोजित गरीब कल्याण जन सभा कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उप मुख्यमंत्री द्वारा दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। उपमुख्यमंत्री ने  गोल्डन स्पिन गर्ल अनन्या श्रीवास्तव, आईएएस में चयनित हुई अरीबा नोमान, चिकित्सा क्षेत्र में एएन सिंह, शिक्षा क्षेत्र में मुनेँद्र मिश्रा, रक्तदान क्षेत्र में आशुतोष श्रीवास्तव, नशा उन्मूलन क्षेत्र में पवित्र सक्सेना सहित अन्य प्रतिभाओं में शामिल व विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा कार्य करने वाले लोगों को अंगवस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

उपमुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आवास योजनान्तर्गत लाभार्थियों को आवास की चाबी प्रदान की गई। उपमुख्यमंत्री द्वारा मनरेगा का व्यक्तिगत प्रमाण पत्र, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत डिवाइस, आयुष्मान भारत योजनान्तर्गत आयुष्मान कार्ड का वितरण, एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण के लिए सहायता योजना के अन्तर्गत चेक वितरण, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत चेक वितरण, कृषि विभाग के कस्टम हायरिंग के लिए फार्म मशीनरी बैंक चॉबी प्रदान की गई।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि देश के अंदर 48 करोड़ गरीबों के बैंक के खाते खुल गए. लगभग 12 करोड़ किसानों को प्रधामनंत्री किसान सम्मान निधि के रूप किसानो को दो-दो हजार रूपये की तीन किश्त के माध्यम से उनके खाते में पहुंचता है। अभी तक लगभग 02 लाख करोड़ रूपये पहंच चुके है।  उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के अंदर 9 करोड़ से अधिक प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजनान्तर्गत गैस का निःशुल्क कनेक्शन मिला है।

मौर्य ने कहा कि 11 करोड़  गरीबों के घरों में शौंचालय बनाने का काम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के माध्यम से 2014 से 2022 के बीच में हुआ है। यह एक ऐतिहासिक उपलब्धि है। उत्तर प्रदेश के अंदरर 43 लाख से अधिक गरीबों को आवास प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जबकि देश के अंदर लगभग 3 करोड़ गरीबों को आवास देने का काम हमारी सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा से आजादी के 75 साल पूरे होने पर अमृत सरोवर योजना लेकर के आए हैं।