‘संभव’ पोर्टल के तहत सभी डिस्कॉम के प्रबंध निदेशकों ने की जनसुनवाई

प्रदेश स्तर पर विद्युत विभाग से जुड़ी 1074 शिकायतों का हुआ निस्तारण

 
electricity department

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा के निर्देश पर विद्युत व्यवस्था के सुधार और उपभोक्ताओं की विभिन्न शिकायतों एवं समस्याओं के समाधान के लिए प्रत्येक डिस्कॉम के सभी प्रबंध निदेशकों द्वारा जनसुनवाई की गई। सभी डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक स्तर की जनसुनवाई में कुल 40 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिनमें से 18 शिकायतों का समाधान मौके पर ही कर दिया गया है। शेष 22 शिकायतों के संबंध में संबंधित अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट प्राप्त होने पर इनका भी तत्काल निस्तारण कर दिया जाएगा।

जनसुनवाई में दक्षिणांचल 8, पश्चिमांचल में 12, मध्यांचल में 8, पूर्वांचल में 8 और केस्को में 4 शिकायतें प्राप्त हुईं। जनसुनवाई में बिलिंग, विद्युत आपूर्ति, खराब मीटर, लोवोल्टेज और अधिक बिल समेत कनेक्शन नहीं मिलने की शिकायतें सुनी गईं। इसमें से फूलबाग की पुष्पा साहू ने नए कनेक्शन के लिए, किदवई नगर के विवेक साहू ने खराब मीटर, नौबस्ता डिवीजन के उमंग अग्रवाल ने बिल नहीं मिलने और रतनपुर डिवीजन की नमिता सूद ने विद्युत आपूर्ति संबंधी शिकायतें डिस्कॉम में की थी। जिनका समाधान कर दिया गया है।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में विद्युत की सुचारू व्यवस्था एवं उपभोक्ताओं की समस्याओं का समयबद्ध, गुणवत्तापूर्ण और संतोषजनक निस्तारण के लिए संभवपोर्टल के तहत जनसुनवाई प्रत्येक सोमवार और मंगलवार को चलती रहेगी। शर्मा ने कहा कि संभव पोर्टल के तहत सोमवार को जिला स्तर पर अधिशासी अभियंता सुबह 10 बजे से 12 तक और सर्किल स्तर पर अधीक्षण अभियंता द्वारा अपराह्न 3 बजे से 5 बजे तक जनसुनवाई की गई। जिसमें प्रदेश स्तर पर कुल 1318 प्राप्त शिकायतों में से 1074 शिकायतों का निस्तारण मौके पर किया गया। इसमें पश्चिमांचल डिस्कॉम की 162, दक्षिणांचल की 196, मध्यांचल की 306 और पूर्वांचल की 410 शिकायतों का निस्तारण किया गया। ऊर्जा मंत्री ने शिकायतों के त्वरित, संतोषजनक और प्रभावी निस्तारण पर सभी अधिकारियों को धन्यवाद दिया।

एके शर्मा ने कहा कि कार्य में किसी प्रकार की ढिलाई और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कार्य के प्रति निष्ठावान और उपभोक्ताओं के प्रति सेवाभाव रखते हुए शिकायतों का न्यायपूर्ण एवं प्रभावी निस्तारण पर बल दिया है। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जिला, सर्किल और डिस्कॉम स्तर पर जिन शिकायतों का निस्तारण नहीं हो पाएगा, उनके समाधान के लिए माह के तीसरे बुधवार को दोपहर 12 बजे से स्वयं ऊर्जा मंत्री और विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा सुनवाई की जाएगी।