अपडेटः 'शहीद' जवान अंकित की मौत का गहराया रहस्य, पढ़िए पूरी खबर

मुजफ्फरनगर निवासी एसएसबी के जवान के शहीद होने की कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं
 
Fauzi Ankit Baliyan

 

  • अमित सैनी, प्रधान संपादक

मुजफ्फरनगर। भारत-भूटान सीमा के समीप तैनात जिले के लाल अंकित बालियान के शहीद होने का राज़ गहराता जा रहा है। एक तरफ परिजन नक्सली हमले में शहीद होने का दावा कर रहे हैं तो अभी तक इस मामले में किसी भी तरह का ना तो कोई अधिकारिक तौर पर बयान सामने आया है और ना ही अधिकारिक तौर पर पुष्टि हुई है। हालांकि जिले के लाल की बॉर्डर पर हुई मौत पर नागरिक गमज़दा है।
कॉल पर मिली थी गोली लगने की खबर
मुजफ्फरनगर के कृष्णापुरी निवासी प्रमोद बालियान रेत्ता वाले का बेटा अंकित बालियान एसएसबी में जवान था। गुरूवार की शाम करीब 8 बजे अंकित के भाई मोनू बालियान के पास बटालियन से कॉल आई थी कि उसके भाई को गोली लग गई है। उसे अस्पताल लेकर जा रहे हैं। बस फिर क्या था... ये सुनकर पूरा परिवार सदमे में आ गया और अंकित की सलामती के लिए भगवान से दुआ मांगने लगा।

Fauzi Ankit Baliyan
एसएसबी के जवान अंकित की मौत की खबर पर बिलखते परिजन

दूसरी कॉल पर मिला था मौत का समाचार
गोली लगने के पहले कॉल के बाद परिवार सदमे में था और ये सोच ही रहा था कि आखिरकार अंकित को गोली कैसे लगी और उसकी हालत कैसी है। इसी बीच फिर से बटालियन से कॉल आई कि अंकित अब इस दुनिया में नहीं रहा। ये सुनकर परिवार वालों के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई और पूरा परिवार दहाड़े मार-मारकर रोने लगा।
नहीं बताया गया कि क्यों और कैसे लगी गोली?
अंकित साल 2013 में एसएसबी में बतौर सिपाही सिलेक्ट हुआ था। कई पोस्टिंग के बाद उसे भारत-भूटान की सीमा कोकराझार में पोस्टिंग मिली थी। तब से वो वहीं पर पोस्टेड था। अंकित के भाई मोनू बालियान के मुताबिक 'पहली कॉल पर उन्हें गोली लगने और दूसरी कॉल पर मौत की खबर मिली थी। उन्हें सही से ये नहीं बताया गया कि गोली कैसे लगी?'

Fauzi Ankit Baliyan
अंकित (File Photo)

सुसाइड को लेकर भी बाज़ार गर्म
एक तरफ परिवार के लोगों का दावा है कि 'नक्सली हमले में अंकित को गोली लगी थी। जिसके बाद अस्पताल में उपचार के दौरान अंकित ने दम तोड़ दिया।' हालांकि अधिकारिक तौर पर इस कोई पुष्टि नहीं हो सकी है, जबकि जवान अंकित बालियान के पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक ये भी कहा जा रहा है कि उसने ड्यूटी के दौरान सुसाइड किया है।

'इस संबंध में हमारे पास अभी तक कोई भी अधिकारिक तौर पर जानकारी नहीं मिली है।' -अनूप कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट, मुजफ्फरनगर

बिलखते पिता बोले, 'मैं तो पूरी तरह लुट गया'
अंकित बालियान के पिता उसकी मौत पर बेहद दुखी है। समाचार टुडे को दिए इंटरव्यु में उन्होंने बिलखते हुए कहा कि 'वो पूरी तरह से लुट गए हैं। टूट गए हैं। अब कुछ नहीं बचा जिंदगी में...।'

Fauzi Ankit Baliyan
अंकित के पिता प्रमोद बालियान उर्फ प्रमोद रेत्ते वाला रोते-बिलखते हुए

दुखी है पूरा जिला, जानना चाहता है मौत का कारण!
एसएसबी के जवान अंकित की हुई मौत पर पूरा जिला दुखी है। हर कोई उसके दुखी परिवार के लिए दुआ करता नज़र आ रहा है। यहां तक की सोशल मीडिया पर जवान अंकित के शहीद होने की खबर पर बहुत से लोग श्रद्धाजंलि दे रहे हैं। हालांकि हर कोई अब अंकित के पार्थिव शरीर के पृतैक आवास पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं। साथ ही साथ अब हर कोई अंकित की मौत का कारण भी जानना चाहता है। हर कोई जानना चाहता है कि आखिरकार अंकित की मौत कैसे हुई? क्या वाकई में वो नक्सली हमले में शहीद हुआ है? अगर हुआ है तो अधिकारिक पुष्टि में इतनी देरी क्यों? वहीं सवाल ये भी है कि अगर उसने सुसाइड भी किया है तो आखिरकार क्यों?

इस खबर से संबंधित ये भी जरूर पढ़ेः बुरी ख़बरः सीमा पर शहीद हुआ मुजफ्फरनगर का लाल अंकित चौधरी