हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से नाबालिग की मौत

परिजनों ने विद्युत कर्मचारियों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप
 
 
image
  • रिपोर्ट: धीरेन्द्र रायकवार

 

झांसी। झांसी के समथर थाना क्षेत्र में विद्युत कर्मचारियों की लापरवाही के कारण हाईटेंशन लाइन की चपेट मे आने से एक नाबालिग की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक नाबालिग लड़का विद्युत पोल पर चढ़ा था उसी दौरान वह करंट की चपेट में आ गया जिससे वह बूरी तरह झुलस गया। आनन-फानन में परिजनों ने उसे नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

घटना की जानकारी देते हुए मृतक नाबालिग लड़के के पिता मलखान सिंह ने बताया कि उसका बेटा छैंवटा गांव में मंदिर के पास खंभे पर लाइन हटा रहा था। उसी वह दौरान करंट की चपेट में आ गया। पिता ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनका बेटा विद्युत विभाग कर्मियों का सहयोग के तौर पर काम करता था। विद्युत कर्मचारियों के कहने पर लाइन गड़बड़ होने पर सही करने जाता था और शट डाउन लेकर गांव में भी बिजली सही कर देता था। 
पिता ने आरोप लगाया कि माता मंदिर के पीपल का पेड़ कटना था। जिसको लेकर गांव के युवक ने शट डाउन लेकर विद्युत लाइन को हटाने के लिए कहा। लेकिन जब वह बिजली के तार हटा रहा था उसी दौरान आये बिजली के तारों में करंट की चपेट में आने से वह झुलस गया। बेटे को नजदीकी समथर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहॉ चिकित्सकों  उसे मृत घोषित कर दिया। 

तो वहीं दूसरी तरफ मोठ विद्युत उपखंड अधिकारी हिमांशु यादव ने सारे आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि नाबालिक को कोई शटडाउन नही दिया गया था। वह चलती लाइन में काम कर रहा था, जिससे उसकी मौत हुई है।


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप समाचार टुडे के Facebook पेज Youtube और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें। इसके साथ ही आप SamacharToday को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है।