यूपी में कृषि प्रसार एवं कृषकों की आय में वृद्धि करने हेतु गोष्ठी का होगा आयोजन

प्रदेश की 59000 ग्राम पंचायतों में होगी गोष्ठी

 
प्रदेश की 59000 ग्राम पंचायतों में होगी गोष्ठी

लखनऊ। कृषि उत्पादन आयुक्त मनोज कुमार सिंह ने बताया कि प्रदेश में कृषि प्रसार के नवोन्मेषी कार्यक्रम के रूप में एवं कृषि उत्पादकता बढ़ाये जाने तथा कृषकों की आय में वृद्धि करने हेतु अभिनव पहल के रूप में सभी मण्डलायुक्तों व जिलाधिकारियों के नेतृत्व में प्रदेश की 59000 ग्राम पंचायतों में से प्रत्येक दिवस में 05 ग्राम पंचायतों में गोष्ठी/किसान पाठशाला का आयोजन आर0के0वी0वाई0 योजना के अंतर्गत किया जायेगा।

गोष्ठी में मिलेट्स प्रधान विकास खण्ड हेतु राज्य पोषित ’’मिलेट्स पुनरोद्धार योजना’’ दलहन प्रधान विकास खण्ड हेतु दलहन विकास की नवीन योजना एवं तिलहन प्रधान विकास खण्ड हेतु तिलहन विकास की राज्य पोषित योजना के कन्वर्जेंस से गाष्ेठी/किसान पाठशाला का आयोजन किया जायेगा। किसान पाठशाला के अब तक 08 संस्करण आयोजित किये जा चुके हैं। जिसमें 84 लाख से अधिक किसानों को लाभांन्वित किया गया है। ग्राम पंचायत स्तरीय गोठी/किसान पाठशाला के नवम् संस्करण का आयोजन 07 अगस्त से 25 अगस्त के मध्य अपराह्न 0230 बजे से 0530 बजे तक चयनित केन्द्रों पर किया जायेगा।

डीएम व मंडलायुक्त करेंगे भागीदारी

सभी मण्डलायुक्तों/जिलाधिकारियों से कहा कि उपर्युक्त गोष्ठी में सक्रिय भागीदारी करें और यह भी सुनिश्चित करें कि चयनित विद्यालय/पंचायत भवन विभाग को इस कार्य के लिए निर्धारित समय पर उपलब्ध हो जाये एवं ग्राम पंचायत सेक्रेटरी तथा लेखपाल के सहयोग से विद्यालय में किसानों के बैठने की व्यवस्था स्थानीय तौर पर कर ली जाए। जन प्रतिनिधियांे की व्यापक भागीदारी सुनिश्चित की जाए। प्रत्येक ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान की उपस्थिति में ही ग्राम संगोष्ठी का आयोजन कराया जाए तथा सांसद, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, ब्लाक प्रमुख को उक्त कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाए।

प्राकृतिक खेती एवं दलहन, तिलहन एवं सब्जी उत्पादन पर होगी चर्चा


नवम संस्करण की गोष्ठी/किसान पाठशाला में अन्न (महत्व, पोषकता, उत्पादन, तकनीकी एवं प्रसंस्करण) खरीफ फसलोत्पादन (प्राकृतिक खेती एवं दलहन, तिलहन एवं सब्जी उत्पादन), पराली प्रबंधन, कृषक उत्पादक संगठन एवं कृषि तथा सहवर्ती विभागीय योजनाओं की जानकारी जैसे विषयों को सम्मिलित किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी मण्डलायुक्त/जिलाधिकारी, उपनिदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी व अन्य संबंधित अधिकारी अपने कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में ग्राम पंचायत स्तरीय गोष्ठी/किसान पाठशाला को सम्पन्न करायेंगे। जो कृषि प्रकार के क्षेत्र में एक अत्यन्त उपयोगी कदम सिद्ध होगा।


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप समाचार टुडे के Facebook पेज Youtube और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें। इसके साथ ही आप SamacharToday को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है।