मूसलाधार बारिश से पानी-पानी हुई उत्तराखंड की राजधानी

राजधानी की  सड़कों और चौराहों पर भरा पानी, लगा जाम

 
RAIN

देहरादून। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून और आसपास के इलाकों में बुधवार देर शाम तेज हवाओं के साथ हुई मूसलाधार बारिश से जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया। वहीं, राजधानी की सड़कों के साथ ही चौराहों पर जबरदस्त जलभराव से शहरियों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ा। इस दौरान कई जगह जाम की भी स्थिति बनी रही। उधर, शाम से फिर मूसलाधार बारिश का दौर शुरू हो गया।

चौराहों पर जलभराव होने और कई गाड़ियों के बंद होने से बहल चौक, लैंसडौन चौक, शिमला बाईपास, महाराजा अग्रसेन चौक, दर्शन लाल चौक, दिलाराम चौक, आईएसबीटी तिराहा समेत कई चौराहों पर शहरियों को आने-जाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। मूसलाधार बारिश का दौर 2 घंटे बाद थमा और जल निकासी होने के बाद यातायात बहाल हुआ तब लोगों ने राहत की सांस ली। बारिश के दौरान कई चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मी यातायात बहाल कराने को लेकर जूझते नजर आए।

मूसलाधार बारिश के कारण बसंत विहार, शिमला बाईपास, कारगी चौक, चकराता रोड, किशननगर, निरंजनपुर सब्जी मंडी, मेंहूवाला, सेंवल खुर्द,पंडितवाड़ी, माजरा, हरिद्वार, सहस्त्रधारा रोड, सरस्वती विहार, नेहरू कॉलोनी, डालनवाला, बलबीर रोड, राजपुर रोड, रायपुर, करनपुर, ईसी रोड, ओल्ड सहारनपुर चौक, बल्लीवाला, बल्लूपुर, नेहरू कॉलोनी रोड, रिंग रोड, जोगीवाला समेत ज्यादातर इलाकों में बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त रहा।

दरअसल... बारिश से राजधानी के चौराहों और सड़कों पर जलभराव होने से स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत कराए जा रहे निर्माण कार्यों के साथ ही निगम प्रशासन की ओर से चलाए गए नाला सफाई अभियान की भी पोल खुल गई। बारिश के कारण सहारनपुर चौक, दर्शन लाल चौक लैंसडौन चौक, महाराजा अग्रसेन चौक समेत ज्यादातर चौराहों पर जलभराव के साथ जबरदस्त मलबा जमा हो गया, जिससे शहरियों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ा।

बारिश के दौरान जंफर उड़ने और ट्रांसफार्मर फुंकने से बिजली आपूर्ति भी बाधित हो गई। बारिश के कारण कई घंटे तक मरम्मत भी नहीं हो पाई। आखिरकार बारिश थमने के बाद लाइनमैनों ने खामियों को दूर कर आपूर्ति बहाल कराई, इसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।