गुजरात बना सभी जिलों में जियो TRUE-5G सेवाएं देने वाला भारत का पहला राज्य

लाखों छात्रा-छात्राओं को डिजिटल यात्रा में मिलेगी मदद

 
JIO 5G

मुंबई।  जियो अपने ट्रू 5G नेटवर्क को तेजी से रोल आउट कर रहा है। 25 नवंबर को Jio ने गुजरात के 33 जिला मुख्यालयों में से प्रत्येक में अपने True-5G कवरेज का विस्तार करते हुए एक बड़ा कदम आगे बढ़ाया है। इसके साथ ही गुजरात 100% जिला मुख्यालयों में Jio True 5G कवरेज देने वाला भारत का पहला राज्य बन गया है।

दरअसल गुजरात का एक विशेष स्थान है, क्योंकि ये रिलायंस की जन्मभूमि है। ये घोषणा गुजरात और उसके लोगों के लिए रिलायंस का समर्पण भाव दर्शाती है। एक मॉडल राज्य के रूप में, Jio गुजरात में शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, कृषि, उद्योग और IOT क्षेत्रों में 5G-संचालित पहलों की एक श्रृंखला शुरू करेगा और फिर पूरे देश में इसका विस्तार करेगा।

गुजरात में ये शुभारंभ 'एजुकेशन-फॉर-ऑल' नामक एक महत्वपूर्ण TRUE-5G-संचालित पहल के साथ होगा। रिलायंस फाउंडेशन और जियो गुजरात के 100 स्कूलों को शुरू में डिजिटाइज करने के लिए एक साथ आ रहे हैं। इस पहल के अंतर्गत स्कूलों को विशेष सुविधाएं दी जाएंगी।

जैसेः-

  • JioTrue-5G कनेक्टिविटी
  • उन्नत सामग्री मंच
  • शिक्षक और छात्र सहयोग मंच

इस तकनीक के बल पर देश भर के लाखों छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के माध्यम से सशक्त किया जाएगा, जिससे उन्हें डिजिटल यात्रा में मदद मिलेगी। रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड के चेयरमैन आकाश एम अंबानी ने कहा के उन्हें ये बताते हुए गर्व हो रहा है कि गुजरात अब देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जिससे प्रत्येक जिला मुख्यालय उनके मजबूत TRUV 5G नेटवर्क से जुड़ गया है। वे इस तकनीक की वास्तविक शक्ति का प्रदर्शन करके बताना चाहते हैं कि कैसे ये एक अरब लोगों के जीवन में सार्थक परिवर्तन ला सकती है ।

प्रधान मंत्री के लिए शिक्षा एक फोकस क्षेत्र है। अगले 10-15 वर्षों में शामिल होने वाले 30-40 करोड़ कार्यकुशल भारतीयों की शक्ति की कल्पना करें। ये न केवल प्रत्येक भारतीय को बेहतर जीवन स्तर प्रदान करेगा बल्कि 2047 तक प्रधान मंत्री के एक विकसित अर्थव्यवस्था बनने के दृष्टिकोण को साकार करने में भी मदद करेगा।

रिलायंस फाउंडेशन पहले से ही एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स फॉर ऑल (ईएसए) नाम से एक कार्यक्रम चलाता है,  जहां ये युवाओं को शिक्षा और खेल में अवसरों के साथ जमीनी स्तर पर सक्षम और सशक्त बनाता है। जियो और रिलायंस फाउंडेशन स्कूलों को डिजिटाइज करने वाले प्लेटफॉर्म के साथ शक्तिशाली 5G टेक का उपयोग कर सकते है।